आगरा का पेठा मिठाई बनाने की विधि Petha Banane ki Vidhi

Petha Banane ki Vidhi पेठे की मिठाई बहुत ही स्वादिष्ट बनती है आगरे का पेठा तो देश भर में मशहूर है क्योंकि मुख्य रूप से पेठा आगरा में ही बनाया जाता है अच्छे पके हुए पेठे से ही पेठे की मिठाई  बनाई जाती है। पके हुए फ़ल का छिलका सख्त होता है और इसका रंग हल्का हो जाता है। agra ka petha banane ka tarika

पेठे की मिठाई में घी या फिर तेल की कोई ज़रूरत नहीं होती हैं इसका आकार कद्दू के बराबर बडा़ लौकी के कलर का होता है पेठे को कई तरह से बनाया जाता है। जैसे कि सूखा पेठा, रस में डूबा हुआ अंगूरी पेठा और नारियल डला हुआ नारियल पेठा लेकिन ज़्यादातर सूखा पेठा ही खाने में पसंद किया जाता है। वैसे इन सबके अलावा भी पेठे को कई सारी शेपस और रंग के साथ एसेंस डाल कर बनाया जाता है।

आप भी अपने घर पर पेठे की यह साधारण मिठाई बना कर देखें ये सभी को बहुत पसंद आएग।

आवश्यक सामग्री – ingredients for Petha Banane ki Vidhi

  • पेठा फल = 1 कि.ग्राम
  • चीनी = 700 ग्राम
  • केवड़ा एसेन्स = 4 से 5 बूंदे, अगर आप चाहें तो

आगरे का पेठा बनाने की विधि – how to make Petha Mithai

सबसे पहले पेठे के फल को छील लें बीज और बीज के साथ का मुलायम सारा गूदा निकाल कर हटा दें। अब बचे हुए भाग को 1 इंच से लेकर 2 इंच तक के चौकोर या आयताकार टुकड़ों में काट लें पेठे के कटे हुएं टुकड़ों को काटे वाले चम्मच (फोर्क) से थोड़ा-थोड़ा गोद लें।

एक भगोने में इतना पानी लें जिसमें पेठे के टुकड़े अच्छे से डूब सके पानी में 2 मटर के दाने के बराबर फिटकिरी डाल कर घोल लें फिटकिरी के पानी में पेठे के टुकड़े डाल कर डुबा दें और 2 घंटे के लिएं ढककर रख दें।

अब पेठे के टुकड़े फिटकिरी के पानी से निकाल कर एक बार साफ पानी से और धो लें।

एक भगोने में इतना पानी लेकर गर्म करने के लिए रख दें कि पेठे के टुकड़े अच्छी तरह से पानी में ड्ब जाएं और पानी में उबाल आने पर पेठे के टुकड़े पानी में डाल दे और ढक्कन ढककर 5 से 6 मिनट तक उबलने दें पेठे का हल्का कलर बदलने पर गैस को बन्द कर दें। पेठे के टुकड़े छलनी में निकाल लें और अतिरिक्त पानी निकलने दें।

पेठे के टुकड़े उबालते समय इन्हें ज्यादा नरम, ना होने दें उबाले हुए पेठे के टुकड़ो को चीनी के साथ पकाने के लिए एक दूसरा बर्तन लें जिसमें पेठे के टुकड़े डाले और चीनी मिलाकर आधे घंटे के लिए ढककर छोड़ दें। पेठे के टुकड़ो से पानी निकाल कर चीनी घोलकर चाशनी बना ले। चाशनी के लिए अलग से पानी डालने की आवयश्यकता नही हैं।

पेठे को पकाने के लिए भगोने को गैस पर रखे और धीमी आग पर चीनी को पिघलने दें। चीनी के पूरी तरह से पिघलने के बाद गैस को मीडियम कर दें और पेठे को पकाएं।

सूखा पेठा (Dry Petha Sweets) बनाने के लिएं पेठे में जो चाशनी बन रही है। वह एकदम जमने वाली कनसिसटैन्सी की होने तक पेठे को पकाते रखे बीच-बीच में चम्मच से चलाते रहें इस बात का ध्यान रखे कि चाशनी या पेठा कहीं से भी जले नहीं।

जब चाशनी एक दम जमने वाली हो जाए तब गैस को बन्द कर दें। पेठे को 6 से 7 घंटे या फिर रात भर इसी बर्तन में चाशनी में रहने दें ताकि पेठे में अन्दर तक चाशनी अच्छी तरह से चली जाएं।

अब चाशनी के बर्तन से निकाल कर पेठा किसी जाली पर रख दें अगर आप चाहें तो इस पर केवड़ा जल भी छिड़क सकते है। अगर आपको रसदार पेठा के बजाएं एकदम सूखा पेठा पसंद है। तो फिर जाली पर रखे पेठे को पंखे की हवा में खुला 3 से 4 घंटे या और भी ज्यादा देर तक खुला ही सूखने दें।

पेठा मिठाई बनकर तैयार है पेठे की मिठाई आप अभी खाइये और बचा हुआ पेठा कन्टेनर में भर कर रख लें। एक महीने तक जब भी आपका दिल चाहे कन्टेनर से पेठा मिठाई निकाले और खाएं।

petha fruit

 

पेठा कद्दू से थोड़ा सा छोटा सफेद रंग का फल होता है। जिससे इसके कच्चे फल से सब्ज़ी और पके हुए फल से हलवा और पेठा मिठाई (मुरब्बा) बनाया जाता है पेठे की मिठाई इतनी ज्यादा प्रसिद्ध है कि इसे ही पेठा कहा जाने लगा है।

Petha Mithai

शेयर करें:

Leave a Comment