सर्दियों में खाएं गोंद के लडडू – gond ke ladoo ki recipe

गोंद के लडडू (gond ke ladoo) एक बहुत ही पारम्परिक उत्तर भारतीय मिठाई (sweet) है जिसे ज्यादातर सर्दियों के दिनों में ही बनाया और खाया जाता है क्योंकि गोंद (gond) कि प्रकृति गर्म मानी जाती है।

गोंद के लडडू (gond ke ladoo) खाने में बहुत ही ज्यादा स्वादिष्ट और फायदेमंद भी होते है और ये लडडू अर्थराइटिस के रोगी के लिए तो बहुत ज्यादा फायदेमंद होते है तो फिर आईये आज हम भी स्वादिष्ट गोंद के लडडू (Gond Ke Laddu) बनायेंगें जो की सर्दियों के मौसम में कुछ ज्यादा ही फायदेमंद होते है।

आवश्यक सामग्री – necessary ingredients – gond ke ladoo recipe

  • गेंहू का आटा = डेढ़ कप
  • गोंद = एक  कप
  • चीनी = दो कप
  • घी = डेढ़ कप
  • बादाम = 15  अदद, छोटे टुकड़ो में काट लें
  • काजू = 15  अदद, छोटे टुकड़ो में काट लें
  •  छोटी इलाइची पाउडर = आधा चम्मच

विधि – how to make gond ke ladoo ki recipe

गोंद के लडडू बनाने के लिए सबसे पहले तो एक कढ़ाही में घी डालकर गर्म करने के लिए गैस पर रख दे और जब घी अच्छे से गर्म हो जाएं तो फिर गर्म घी में थोड़ा-थोड़ा गोंद डालकर बिल्कुल धीमी आँच पर अलट पलट कर तल लें|

और इस बात का ख़ास ध्यान रखें की गोंद को तलते समय गैस बिल्कुल स्लो होनी चाहिए नही तो गोंद अंदर से अच्छी तरह से नही तल पायेगा और अन्दर से ये कच्चा रह जायेगा|

इसी तरह से पूरा गोंद थोड़ा-थोड़ा डालकर तलकर तैयार करके एक प्लेट में निकाल लें और अब बचे हुए घी में गेंहू के आटे को डालकर हल्का गुलाबी होने तक भून कर एक प्लेट में निकाल लें।

जब तला हुआ गोंद थोड़ा ठंडा हो जाएं तब प्लेट में रखें हुए गोंद को उल्टी कटोरी या फिर बेलन से दबाकर पीसकर बिल्कुल बारीक कर लें।

अब हम गोंद के लडडूओं की चाशनी बनायेंगें चाशनी बनाने के लिए एक कढ़ाही में दो कप चीनी और आधा कप पानी डालकर गर्म होने के लिए गैस पर रख दे और कलछी से चलाते हुए चाशनी में उबाल आने के बाद 7 से 8  मिनट तक और पकने दें।

अब चाशनी को थोड़े से पानी में डालकर चेक कर लें अगर चाशनी को उँगली और अंगूठे से चिपकाकर देखने पर एक मोटा तार आने लगता है तो तभी तुरंत गैस को बंद कर दें और चाशनी को एक बड़े बर्तन में पलट लें|

और गरम-गरम चाशनी में भुना हुआ आटा और तला हुआ गोंद, कटे हुए बादाम, कटे हुए काजू और छोटी इलाइची पाउडर डाल कर कलछी से अच्छी तरह से मिक्स कर लें|

गोंद के लडडूओं का मिश्रण बनकर तैयार हो गया है और अब इस मिश्रण में से थोड़ा-थोड़ा मिश्रण लेकर गोल-गोल लडडू बनाकर थाली में रखते जाएं। और इसी तरह से पूरे मिश्रण से लडडू बनाकर थाली में रख लें।

स्वादिष्ट और हेल्थी गोंद के लडडू (Gond Ke Laddu) बनकर तैयार हो गये हैं जब ये गोंद के लडडू ठंडे हो जाएं तो इन्हें किसी एअर टाइट कन्टेनर में भरकर रख दे गोंद के लडडू को आप तकरीबन 15 से 20 दिन तक रखकर इस्तेमाल कर सकते है।

शेयर करें:

1 thought on “सर्दियों में खाएं गोंद के लडडू – gond ke ladoo ki recipe”

Leave a Comment