केसर की चाय के फायदे और केसर के गुण – kesar ke fayde in hindi

Kesar जिसे Saffron भी बोला जाता है उसके बहुत सारे फायदे और (health benefits) है जो की हमारे स्वास्थ के लिए बहुत ज्यादा लाभकारी है जैसे कि आपने सुना ही होगा की दूध और केसर के काफी (fayde) होते हैं (benefits of drinking milk along with kesar) जिसके कारण इसे सदियों में उपयोग (upyog) में लाया जा है|

तो फिर आज मैं आपके साथ कुछ (useful tips) के बारे में बाते कर रही हूँ जो कि आप नहीं जानते होंगे|

केसर के फायदे

केसर और दूध (Kesar and Milk) को सही मात्रा में मिलाकर पेस्ट बना ले और सप्ताह में दो दिन अपने चेहरे पर लगाएं| इससे चेहरे पे निखार आता है और रंग भी थोडा गोरा हो जाता है| (Skin) में रौनक पाने के लिए, दो चम्मच  केसर और पांच चम्मच दूध ले कर 10 मिनट तक मिला कर छोड़ दे|  इसके बाद इसे चेहरे पर 30 मिनट तक लगा कर ठन्डे पानी से धो ले| इसको सप्ताह में दो बार दोहराए |

अगर आपके सर में दर्द है तो फिर केसर और चन्दन का लेप बना ले और इसे अपने सर पर लगाले इससे आपको सर दर्द से जल्द ही राहत मिलेगी|

केसर को खाद्य व्यंजनों में करने से व्यंजन के स्वाद में चार चाँद लग जाते है जैसे कि खीर, बिरयानी या फिर मिठाई में इसका इस्तेमाल होता है|

केसर को दूध के साथ इस्तेमाल करने से ये शरीर की ताकत को बढाता है केसर के नियमित सेवन से किडनी और लीवर की बीमारियां भी दूर हो जाती है|

Kesar को किसी भी चीज़ में लगातार सेवन करने से पाचन तंत्र अच्छा रहता है और अगर आप केसर को दूध या फिर चाय में इस्तेमाल करते है तो फिर आपका (blood pressure control) में रहता है|

Kesar में प्रयाप्त मात्रा में Vitamin A, C और Folic Acid होता है जो की हमारे शरीर के लिए काफी लाभकारी है|

बालों को झड़ने (hair loss) से रोकता है और इसके लिए आप केसर को नारियल के तेल में मिला कर 10 से 15 मिनट तक मसाज करे ऐसा करने से ना केवल आपके बाल झड़ने से रुकंगे बल्कि गंजापन भी नहीं होगा |

आवश्यक सामग्री – necessary ingredients –

  • पानी = चार कप
  • चाय की पत्ती = एक  छोटा चम्मच
  • दालचीनी = आधा छोटा चम्मच
  • इलायची पावडर = दो चुटकी
  • बादाम = चार बारीक़ कटे हुए
  • चीनी =  चार चम्मच
  • किशमिश =  16 दाने
  • केसर के धागे =  8 से 10 अदद
  • मलाई =  चार छोटे चम्मच

विधि – how to make kesar tea

सबसे पहले तो केसर को थोड़े से गर्म पानी में भिगो दें और फिर किशमिश को धोकर गर्म पानी में अलग से भिगोएँ। अब पानी को उबलने के लिए रख दे और उबाल आने पर चाय की पत्ती डाल दें।

जब पत्ती रंग छोड़ दे तो फिर छानकर अलग कर दें और इस पानी में किशमिश, कटे हुए बादाम, इलायची पावडर डालकर भीगी व मसली हुई केसर की बूँदें डाल दें ये चाय गरम-गरम ही पीएँ और पिलाएँ।

शेयर करें:

Leave a Comment