10 मिनट में बनाएं स्वाद व सेहत से भरपूर परवल की लज़ीज़ मिठाई

मिठाई तो कभी भी कही भी खाने का मन कर सकता है तो फिर अब बाजार का आसरा छोड़े और घर पर ही परवल से बनाएं स्वादिष्ट मिठाई भारत के उत्तरी और पूर्वी इलाको में परवल की मिठाई बहुत ज्यादा पसंद की जाती है चाहे कोई भी आयोजन या फिर त्योहार हो यह मिठाई स्पेशल तौर पर बनाई जाती है मज़ेदार मीठी व क्रंची परवल की मिठाई सभी को बहुत ज्यादा पसंद आती है।

आवश्यक सामग्री – necessary ingredients – parwal ki mithai recipe

  • परवल = आधा किलो
  • चीनी = 300 ग्राम

सबसे पहले आप इन परवल को खूब अच्छी तरह से धोकर छीलकर लम्बाई से एक तरफ से काटे और फिर इसके अंदर से बीज इस तरह से निकाले कि वो टूटे नहीं फिर परवल को गर्म पानी में तीन से चार मिनट तक उबालें और फिर गर्म पानी में से परवल को निकालकर पांच मिनट के लिए इन्हें ठंडा होने दें इससे परवल का कच्चापन दूर हो जाएगा।

और अब चीनी को पानी में उबालकर इसकी चाशनी बनाएं चाशनी को ज्यादा गाढ़ी न करें जिससे की चाशनी ठंडी होने पर जमे न और फिर परवल को चाशनी में डालकर तब तक उबालें जब तक की परवल का रंग बदल ना जाएं।

जब परवल का रंग बदलने लगे तो फिर गैस को बंद कर दें और परवल को एक घंटे तक चाशनी में ही पड़ा रहने दें जब तक कि परवल मीठे और ठंडे हों तब तक आप परवल में भरने के लिए पिठ्ठ को तैयार कर लें।

पिठ्ठी भरने के लिएं सामग्री

  • खोया = 200 ग्राम
  • पिस्ते = दस अदद
  • बादाम =  1/4 कप
  • छोटी इलाइची पावडर = चार अदद
  • चीनी पाउडर = 50 ग्राम

विधि – how to make parwal ki mithai

पिठ्ठी को बनाने के लिए सबसे पहले मावे को स्लो गैस पर हल्का गुलाबी होने तक भून लें और बादाम को मिक्सी में पीस लें और चार से पांच बादाम को लंबे-लंबे टुकड़ो में काट लें अब भूने हुए मावे में पिसे हुएं बादाम, छोटी इलाइची पावडर और चीनी मिला दें परवल में भरने के लिए पिठ्ठी बनकर बिलकुल तैयार है।

पिस्ते को भी बारीक-बारीक काट कर रख लें अब परवल को चाशनी में से निकालकर चलनी पर रखें और कुछ देर इंतजार कर लें जिससे कि परवल में से चाशनी निकल जाएं और जब परवल में से चाशनी पूरी तरह से निकल जाए तो फिर उसके अंदर पिठ्ठी भरें।

और पिठ्ठी भरे हुए परवल को एक थाली में सजाकर ऊपर से कटे हुए बादाम और पिस्ते उसके ऊपर से चिपकाएं।

लों जी स्वादिष्ट व मज़ेदार परवल की मिठाई बनकर बिलकुल तैयार है खुद भी खाएं और महमानों को भी खिलाएं।

शेयर करें:

Leave a Comment