सर्दियों की खास पेशकश गाजर मूली का तीखा अचार Gajar Mooli Pickle

Gajar Mooli ka mix Achaar ठंड के इस मौसम के लिए हम आपके लिए लेकर आए है। खास गाजर मूली का स्वादिष्ट व चटपटा अचार ये आपके खाने को एक अलग व अनोखा ही स्वाद देता है। अगर आप चाहे तो इस अचार को परांठे और पूरी के साथ भी खा सकते हैं। इसके साथ आपको किसी और सब्ज़ी की जरूरत भी महसूस नही होगी।

आवश्यक सामग्री – ingredients for Gajar Mooli ka mix Achaar

  • मूली = 500 ग्राम
  • गाजर = 250 ग्राम
  • हरी मिर्च = 50 ग्राम
  • अदरक = 50 ग्राम
  • नमक = दो छोटे चम्मच, मूली गाजर में डालकर रख दें
  • लाल मिर्च पाउडर = एक छोटा चम्मच
  • हल्दी पाउडर = एक छोटा चम्मच
  • काली मिर्च = आधा छोटा चम्मच, दरदरी कुटी हुई
  • नमक = दो छोटे चम्मच
  • पीली सरसों = 6 छोटे चम्मच, दरदरी कूट लें
  • अजवायन = आधा छोटा चम्मच
  • हींग = दो चुटकी
  • सफेद विनेगर = दो टेबल स्पून
  • सरसों का तेल = आधा कप

विधि – how to make gajar mooli pickle

गाजर, मूली, अदरक को छील कर पानी से अच्छे से धोकर सूखने तक सुखा लें। हरी मिर्च के डंठल थोड़ कर इसे भी अच्छे से धोकर पानी सूख जाने तक सुखा ले।

अब मूली को दो-दो इंच के टुकड़ों में काट लें। फिर इन टुकडों को लम्बाई में पतला-पतला काट लें अब गाजर को भी इसी तरीके से काटकर तैयार कर लें। और एक बाउल में रख दें अदरक को लम्बाई में पतला-पतला काटकर छोटा-छोटा दो या तीन टुकड़े करते हुए काट लें। और बाउल में निकाल कर रख दें। हरी मिर्च को लम्बाई में दो टुकड़े करते हुए काट लें और इसे भी बाउल में रख दें।

अब इन सभी चीजों में दो छोटे चम्मच नमक डालकर अच्छी तरह से मिक्स कर दें। सारी चीजों के मिक्स हो जाने पर इन्हें किसी साफ कंटेनर में भरकर रख दें। और कंटेनर के ढक्कन को बंद कर के इसे 24 घंटे के लिए रख दें। दस घंटे बाद कंटेनर को एक बार अच्छी तरह से हिला दें ताकि कंटेनर में रखी हुई सारी सामग्री अच्छे से आपस में मिक्स हो जाए।

दूसरे दिन कंटेनर के अंदर मूली गाजर ने जो पानी छोड़ दिया है। उसको अलग करेंगे इसके लिए आप किसी बाउल के ऊपर बड़ी छलनी रखकर इस पर कंटेनर में रखी हुई सारी मूली गाजर डाल दें। ऐसा करने से सारा पानी नीचे बाउल में निकल जाएगा।

दस मिनट के लिए मूली गाजर को छलनी में ही रखा रहने दें। ताकि मूली गाजर का सारा पानी इसमें से निकल कर बाउल में आ जाए।

तय समय बाद गाजर, मूली, अदरक और हरी मिर्च को किसी ट्रे में डालकर अच्छे से फैला दें। और फिर इसे धूप में रख दें ताकि जो पानी इसमें रह गया हो वह भी अच्छे से सूख जाए। अगर धूप नहीं है तो फिर आप इसे एक से डेढ़ घंटे के लिए पंखे की हवा के नीचे रखकर सुखा लें।

मूली गाजर सुखाने के बाद इसे किसी बड़े से बाउल में कर लें। फिर इसमें दो छोटे चम्मच नमक, लाल मिर्च पाउडर, हल्दी पाउडर, कुटी हुई काली मिर्च, अजवायन और दरदरा कुटा हुआ सरसों पाउडर डाल दें।

फ्राई पैन में सरसों का तेल डालकर इसको अच्छे से गर्म कर लें। जब इसमें से धुआं उठता हुआ दिखाई दे तो समझ जाएं कि तेल अच्छे से गर्म हो गया है। तो गैस को बंद कर दें और तेल को थोड़ा सा ठंडा होने के लिए रख दें।

तेल के हल्का ठंडा हो जाने पर इसमें हींग डालकर मिला दें। अब इस तेल को अचार के ऊपर से डालकर अच्छे से मिला लें सारे मसाले अच्छी तरह से मिल जाने के बाद इसमें दो टेबल स्पून सिरका डालकर एक बार फिर से मिक्स कर लें।

अब हमारा गाजर, मूली का स्वादिष्ट अचार बनकर रेडी है। इस अचार का सेवन फ़ौरन भी किया जा सकता हैं। लेकिन अचार का असली स्वाद तो तीन से चार दिन बाद ही आता है। जब गाजर, मूली, अदरक और हरी मिर्च मसाले को अच्छे से सोख लें। तो इस अचार को साफ कन्टेनर में भरकर रख दें।

पांच से सात दिन इसे धूप में रखे और हर दूसरे दिन अचार को एक साफ व सूखे चम्मच से नीचे-ऊपर करते रहे। यह अचार दो से तीन महीने तक रख कर खाया जा सकता है।

सुझाव

  1. अगर गाजर के अंदर का पीला वाला भाग बड़ा और सख्त है तो आप उसे निकाल सकते है।
  2. सिरका डालने से अचार के स्वाद में खट्टापन आता है जिससे इसका स्वाद और ज़्यादा बढ़ जाता है और अचार की Shelf life भी बढ़ जाती है।
  3. जिस बर्तन में आप अचार बना रहे हो और जिसमे आप अचार को रखोगे उसका अच्छे से साफ और सूखा होना ज़रूरी है। गीले बर्तन में अचार बनाने से आपका अचार खराब भी हो सकता है।
  4. तेल को अचार में बिना गर्म किए भी इस्तेमाल किया जा सकता है परन्तु अगर आप कच्चे तेल की खुशबू पसंद नहीं करते हैं तो फिर आप इसे गरम करके ही इस्तेमाल करें।
  5. अगर आपको अचार ज़्यादा बनाना है तो इस सामग्री को डबल कर सकते है।
शेयर करें:

Leave a Comment