चटपटा खट्टा व तीखा आंवले का टेस्टी अचार Amla ka Achar

Amla ka Achar अचार सभी सब्जियों के स्वाद को बढ़ा देता है अचार के साथ चाहे दाल चावल हो या सब्जी-रोटी, पूरी हो या पराठा सभी खाने में बहुत स्वादिष्ट लगते है। तो फिर क्यों ना इस बार आंवले का अचार बनाया जाएँ। सर्दी के मौसम में आंवला काफी ज्यादा आता है इस बार आप भी बनाएं आंवले का खट्टा-तीखा स्वादिष्ट अचार।

आवश्यक सामग्री – ingredients for amla ka achar banane ki vidhi

  • आंवले = आधा किलो
  • लाल मिर्च पाउडर = एक टीस्पून
  • हल्दी पाउडर = दो टीस्पून
  • सोंफ पाउडर = दो टीस्पून
  • पीली सरसों = चार टीस्पून, दरदरा कूट लें
  • अजवायन = एक टीस्पून
  • मैंथी दाना = दो टीस्पून
  • हीग = एक चौथाई चम्मच
  • नमक = स्वाद अनुसार
  • सरसों का तेल = 200 ग्राम

विधि – how to make awale Pickle

आंवले का अचार बनाने के लिए मार्किट से अच्छे वाले व साफ-सुथरे आंवले लेकर आएं सबसे पहले आंवले को साफ पानी से धो लें। फिर एक बड़े भगोने में आंवले और तीन से चार कप पानी डालकर पकने के लिए रख दें एक उबाल आने पर गैस को हल्का कर दें।

आंवले को नर्म होने तक पकाले इन्हें इतना सॉफ्ट होने तक पका लें की इनकी आसानी से फांके की जा सके आंवले के नर्म होते ही गैस बन्द कर दें। अब आंवलो को जालीदार टोकरी में छान लें ठंडा होने के बाद इनकी फाकें काट लें और गुठली को अलग कर दें।

कढ़ाई में तेल डालकर गैस पर गर्म होने के लिए रख दें तेल के गर्म होते ही गैस बंद कर दें। अब इसमें पिसा हुआ हींग, अजवायन और मैथी दाना डाल दें।  चम्मच से चलाते हुए भून लें फिर हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, सोंफ पाउडर, पीली सरसों और नमक डाल कर मसाले को चम्मच से चला लें।

अब इस मसाले में आंवले डालकर  मसाला और आंवले को अच्छी तरह से आपस में मिक्स कर लें खट्टा व तीखा आंवले का अचार बनकर तैयार है। अचार को ठंडा होने के लिए रख दें जब अचार अच्छे से ठंडा हो जाएँ तो फिर इसे किसी भी कांच के जार या डिब्बे में भर कर रख दें।

एक सप्ताह तक रोजाना आंवले के अचार को धूप में रखे और साफ व सूखे चम्मच से नीचे-ऊपर करते रहे Amla ka Achar को आप तुरंत भी खा सकते है। वैसे ये एक हफ्ते बाद खाने में ज्यादा मजेदार लगता है क्योकि इतने समय में सभी मसाले आंवले के अन्दर तक चले जाते है जिससे अचार ज्यादा स्वादिष्ट लगता है। अचार को लम्बे टाइम तक चलाने के लिए आंवले के ऊपर तक तेल होना चाहिए।

Amla ka Achar

शेयर करें:

Leave a Comment