ऐसे पूरी करे शरीर में खून की कमी खून इतना बनेगा कि डोनेट करने लगोगे

अगर आपको हर समय थकान रहती हैं। कमज़ोरी महसूस होती हैं। चलने-फिरने से सांस फूलने लगता हैं। ऐसे में आपको आराम करने की जरूरत नहीं हैं। क्यूंकि ये सब आराम करने से ठीक नहीं होगा। ये सब शरीर में खून की कमी की वजह से और नसों की कमजोरी की वजह से होता हैं। इसलिए आपको अपने अन्दर खून की मात्रा को बढ़ाना हैं।

खून की कमी की वजह से त्वचा पीली पड़ जाती हैं। नाखून सफ़ेद होने लगते हैं। चेहरे की चमक खत्म हो जाती हैं। चेहरा सुन्दर नहीं दिखता हैं और कमज़ोरी तो इतनी हो जाती हैं। किसी भी काम को करने की शक्ति खत्म हो जाती हैं। काम में मन नहीं लगता हैं। इन सब से छुटकारा पाने के लिए आपको अपना हिमोग्लोबीन बढ़ाना हैं। जिससे आपके शरीर में खून की कमी पूरी हो जाएँगी।

इस पोस्ट में आप एक ऐसा जूस बनाना सीखेगे। जिससे आपके अन्दर खून तेज़ी से बनेगा। इस जूस को आप खून बनाने वाली मशीन भी कह सकते हैं। जिन लोगो को खून की कमी हैं।वो इस जूस को बनाकर इसको जरूर पिएं। खून की कमी के साथ ये जूस आपको और भी बहुत फायदे देगा। क्यूंकि इस जूस को हम चुकंदर, आवंला और गाजर से बनाएंगे। इसलिए ये जूस आपकी इम्युनिटी को भी मजबूत करेगा बालो में चमक आ जाएँगी। स्ट्रोंग होगे और साथ ही आपका पाचन भी अच्छे से होगा। चेहरे पर चमक आ जाएँगी।

जूस बनाने से पहले आप इन चीज़ों के फायदे जाने की ये सब चीज़े आपको कितना फायदा देगे।

चुकंदर (Beetroot) –

Beetroot

चुकंदर में फोस्फोरस, सोडियम, पौटेशियम और आयरन की बहुत अधिक मात्रा होती हैं इसको खाने से हिमोग्लोबीन बढ़ता हैं और खून की कमी दूर होती हैं। चुकंदर में नाइट्रेट्स काफी मात्रा में होता हैं। इसलिए जिन लोगो का ब्लड प्रेशर हाई रहता हैं उन लोगो के लिए चुकंदर फायदेमंद हैं। इसके सेवन से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या कम हो जाती हैं। अगर आप चुकंदर का जूस पीते हैं। तो आप बहुत सारे रोगों से बच सकते हैं। जैसे कब्ज़, हेपेटाइटिस और पीलियाँ जैसे बिमारी से बच जाएंगे।

चुकंदर का जूस खराब कोलेस्ट्रॉल को बढ़ने नही देता हैं। जिसकी वजह से खराब कोलेस्ट्रॉल धमनियों में नहीं जमता हैं और इससे दिल का दौरा (हार्ट अटैक) का खतरा भी कम हो जाता हैं। चुकंदर के सेवन से ब्लड शुगर भी नहीं बढ़ता हैं। इसलिए जिन लोगो को डायबिटीज हैं उनको चुकंदर खाना चाहिए।

गाजर (Carrot) –

carrot

गाजर में अल्फ़ा-कैरोटीन, बीटा-कैरोटीन और ल्यूटिन पाया जाता हैं। जो शरीर में कोलेस्ट्रॉल लेवल को कण्ट्रोल में रखता हैं। जिसकी वजह से दिल से जुड़ी बिमारी से बचा जा सकता हैं। क्यूंकि गाजर दिल के मरीज़ों के लिए बहुत फायदेमंद हैं। गाजर में बीटा-कैरोटीन पाएं जाने की वजह से ये आँखों के लिए भी फायदेमंद साबित हुई हैं।

जिन लोगो की आँखों की रौशनी कमज़ोर हैं। अगर वो रोज़ गाजर खाते हैं। तो धीरे-धीरे कमज़ोर नज़रे स्वस्थ होने लगती हैं और आँखों की रौशनी बढ़ने लगती हैं और आँखों में होने वाली परेशानियों से भी बचा जा सकता हैं। गाजर का सेवन करने से और गाजर को खाने से इम्युनिटी सिस्टम को बेहतर बनाया जा सकता हैं।

गाजर में विटामिन ‘ए’, एंटी-ओक्सिडेंट और विटामिन ‘ई’ पाया जाता हैं। जिसकी वजह से गाजर त्वचा के लिए लाभकारी हैं। गाजर हमारी स्किन को स्वस्थ रखती हैं। सर्दियों में स्किन ड्राई हो जाती हैं। इसलिए आपको गाजर को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए। जो आपकी स्किन की ड्राईनेस को खत्म करके स्किन को हेल्दी बना देगी और आपकी स्किन चमकदार बनेगी।

गाजर में एंटी-एजिंग गुण होते हैं। जिसकी वजह से हमारी त्वचा झुर्रिया और पिगमेंटेशन से बच सकती हैं। गाजर खाने से हमारी बॉडी की सफाई भी हो जाती हैं। इतना ही नहीं गाजर में विटामिन ‘सी’, प्रोटीन और आयरन होता हैं। जो बालो को स्वस्थ रखता हैं और बालो को बढ़ाने में भी सहायता करता हैं बालो में चमक भी लाता हैं। इसलिए आपको गाजर को खाना चाहिए। जिससे आपको इसके सारे फायदे मिल सके।

आवंला (Indian Gooseberry) –

amla

आवंले में बहुत सारे महत्वपूर्ण तत्व पाएं जाते हैं। जैसे विटामिन ‘सी’, पोटेशियम, आयरन, एंटी-ओक्सिडेंट, फ्लेवोनोइड्स और एंथो-साइनिन पाया जाता हैं। आवंला शरीर को डिटोक्स करता हैं। ये इम्यून और मेटाबोलिज्म को बूस्ट करता हैं। आवंले से पाचन तन्त्र भी मज़बूत होता हैं। आवंला बालो को चमकदार, काला, घना और लम्बा और स्ट्रोंग बनाता हैं। आवंला खाने से आँखों में भी चमक आती हैं और रौशनी बढ़ती हैं। आवंला डायबिटीज वाले मरीज़ो के लिए भी लाभकारी हैं। क्यूंकि ये क्रोमियम का अच्छा सोर्स माना जाता हैं।

आवंला खाने से स्किन भी टाइट हो जाती हैं और दाग-धब्बे दूर हो जाते हैं। जिससे स्किन ग्लो करती हैं और स्वस्थ बनी रहती हैं। आवंला खाने से एसिडिटी से भी आराम मिलता हैं और पाचन शक्ति को मज़बूत करता हैं। आवंले से वज़न भी कण्ट्रोल में रहता हैं। आपने इन सब चीज़ों के फायदे तो जान लिए अब बारी हैं। इस चमत्कारी जूस को सीखने की जिससे आप भी ये जूस बनाकर इसका फायदा ले सके।

आवश्यक सामग्री – ingredients for Healthy Juice

  • गाजर = 4 मीडियम साइज़ की
  • चुकंदर = 1 मीडियम साइज़ की
  • टमाटर = 1 मीडियम साइज़ का
  • आवंला = 2 मीडियम साइज़ के
  • अदरक = ½ इंच का टुकड़ा
  • काला नमक = स्वाद अनुसार

विधि – How to make healthy juice

जूस बनाने के लिए आप सबसे पहले चारो गाजर को एक-एक करके पीलर से छील ले और फिर गाजर को थोड़ा-थोड़ा सा आगे और पीछे से काट ले। अब चुकंदर को भी इसी तरह से छीलकर आगे और पीछे से काट ले। फिर गाजर और चुकंदर दोनों को पानी से वोश करके रख ले और फिर टमाटर और आवंला और अदरक के टुकड़े को भी वोश करके रख ले।

अब एक मिक्सी जार ले और इसमें गाजर को काटकर डाले एक गाजर ले और इसको छोटे पीस में काट ले। जब आप गाजर के ऊपर वाले हिस्से को काटेगे तो गाजर के अन्दर मोटी पीले कलर की स्टिक होती हैं, उसको फेक दे और इसी तरह से सारी गाजर को काटते हुए डाले। अब चुकंदर ले चुकंदर को भी छोटे पीस में काटकर डाले। अब दोनों आवंले को भी एक-एक करके कटकर डाले। आवंले का बीज निकाल दे।

फिर जार में अदरक के टुकड़े को भी काटकर डाले। उसके बाद इसमें टमाटर को भी छोटे टुकड़ो में काटकर डाले। अब इनको ग्राइंड करने के लिए इसमें आधा कप पानी डाले और एकदम फाइन ग्राइंड करके इनका पेस्ट बना ले।

अब इस पेस्ट से जूस निकालने के लिए आपको ये करना हैं, कि एक बाउल पर बारीक वाली छन्नी रखकर इसमें पेस्ट जिसको आपने बनाया हैं। उसको डालकर स्पेचुला से पेस्ट को दबाते हुए इससे जूस निकाल ले। जब स्पेचुला से पेस्ट को दबाने से जूस नही निकले।

तब आप कोई भी सूती कपड़ा ले और इसमें पेस्ट को डालकर कपड़े को पकड़कर हाथ से निचोड़ ले। जिससे पेस्ट में जो भी जूस हैं वो सब निकल जाएँगा, जूस को जब आप हाथ से निचोड़कर निकालेगे तो हाथ को पहले पानी से अच्छे से वोश कर ले। उसके बाद निचोड़ते हुए जूस को निकाल ले।

अब जूस को गिलास में करने से पहले गिलास में थोड़ा सा काला नमक डाले और अब इसमें जूस को कर ले और चम्मच से मिक्स कर ले जिससे काला नमक जूस में मिक्स हो जाएँ, इतना जूस आपके दो गिलास में आ जाएंगा। इस तरह से आपका हेल्दी जूस बनकर तैयार हैं।

आप इस जूस को सुबह खाली पेट पी सकते हैं और अगर आपको इसको खाली पेट पीने में दिक्कत आती हैं। जैसे उलटी या फिर सुबह पीने का मन नहीं हैं। तब आप इस जूस को दोपहर खाने के बाद एक बजे के करीब तक पी सकते हैं। आपको इस जूस को रात में नही पीना हैं। इस बात का ध्यान रखे एक महीने आप इस जूस को पिएंगे। तो आपके अन्दर खून की कमी दूर हो जाएँगी और खून भी साफ़ होगा और साथ में आप बहुत सारी बिमारी से बचे रहेगे और आप हेल्दी रहेगे।

Image Source: MEENU GUPTA KITCHEN

Recipe Source: MEENU GUPTA KITCHEN

5/5 - (2 votes)

Leave a Comment

join us on telegram zayka recipes