अगर बलगम को चाहते हैं जड़ से ख़त्म करना तो भूलकर ना खाएं ये चीज़े Cough Ko Kaise Khatam Kare

हेलो दोस्तों आज मैं आपको बलगम को खत्म करने के नेचुरल तरीके बताउंगी जिनको आप अपनाएंगे। तो आपका बलगम जड़ से खत्म हो जायेंगा और आपको बलगम की समस्या भी नहीं होगी। बलगम छाती का हो या फिर फेफड़े या फिर गले का बलगम से सभी बहुत परेशान हो जाते हैं।

बलगम की वज़ह से गले में खराश, सीने में खड़-खड़ और गले में दर्द जैसी समस्या पैदा हो होती हैं। जिनकी वजह से हम ठीक से सो नहीं पाते हैं। बलगम से छुटकारा पाने के लिए हम डॉक्टर के पास जाते हैं। दवाइयां खाते हैं, लेकिन कई बार ऐसा होता हैं। इतना कुछ करने के बाद भी हमे रिलीफ नहीं मिलता हैं।

बलगम अपनी जगह पर बना रहता हैं और हम इससे परेशान रहते हैं। आपका बलगम कितना भी पुराना हो, जमा हुआ हो अगर आप ये तरीके अपनाएंगे, तो आपका बलगम धीरे-धीरे कम हो जायेंगा और आपको इससे छुटकारा मिलेगा और आपका एक रुपया भी खर्च नहीं होगा और आप फ्री में ही बिना डॉक्टर के पास जाएँ। बलगम से आराम पा सकेगे इस पोस्ट में आप बलगम को खत्म करने की दवाइयों के बारे में भी जानेगे। आप चाहे तो वो दवाई भी ले सकते हैं और अगर आप दवाई नहीं ले सकते। वो क्या तरीका हैं? जिससे आपको आराम मिलेगा। आप वो सब तरीका भी अपना सकते हैं।

कई लोगो को बलगम बनने लगता हैं और बलगम बनने का ये प्रोसेस व्रोंकोरिया कहलाता हैं। बलगम भी अलग-अलग तरीका का होता हैं। जैसे कुछ लोगो को बलगम के साथ खून आता हैं। तो कुछ को सफ़ेद गाढ़ा बलगम आता हैं। इसी के साथ कुछ मरीज़ो को सफ़ेद पतला बलगम आता हैं और बहुत कम ऐसे मरीज़ होते हैं। जिनको हरा बलगम आता हैं और एक पीले कलर का बलगम भी आता हैं।

बलगम में ये अलग-अलग कलर हमारे अन्दर किस प्रकार का इन्फेक्शन हैं। उनको बताते है। जिन मरीज़ो को बलगम के साथ खून आता हैं। तो इसका मतलब आपको कोई गंभीर बिमारी हो सकती हैं। क्यूंकि बलगम के साथ खून आना अच्छा संकेत नहीं होता हैं। ये घातक बिमारी की और इशारा करता हैं। बलगम के साथ खून आने पर आपको फेफड़ो से सम्बंधित बड़ी बीमारी हो सकती हैं।

अगर आपको इस तरह का बलगम हैं। तब आप डॉक्टर के पास जाते हैं और डॉक्टर आपको दवाई और टेस्टी जैसे चेस्ट एक्स-रे, बलगम स्कूटम, टयूबरक्लोसिस और एलर्ज़ी जैसे टेस्ट आपको बताते हैं। अगर आपको एक डॉक्टर के पास से आराम नहीं होता। फिर आप दूसरे डॉक्टर के पास जाते हैं और कई बार ऐसा होता हैं, कि हमे इतनी दवाई और टेस्ट के बाद भी आराम नहीं मिलता हैं।

इस तरह से हमारे बहुत पैसे भी खर्च हो जाते हैं और हम ठीक नहीं होते हैं। तब आप ये तरीके अपनाएँ। जिनसे आपको आराम भी मिलेगा और बलगम बनने का जो प्रोसेस हैं वो भी कम हो जायेंगा।

जिन लोगो को बलगम बनता हैं। ऐसे मरीज़ो को कुछ ऐसी चीज़े हैं। जिनको अवॉयड करना चाहिए। उनको खाने से बचना चाहिए। क्यूंकि खाने और पीने से बलगम पर बहुत प्रभाव पड़ता हैं। बलगम वाले मरीज़ो को खट्टी चीज़ों, कोल्ड्रिंक, डेरी प्रोडक्ट्स, डीप फ्राइड स्नैक्स और जुसेज़ वगेराह से बचना चाहिए। इन सबसे परहेज़ करना चाहिए।

अगर आप इन सब को खाने से परहेज़ करते हैं। तब आपको आराम मिलेगा और आपको जो बलगम बनता हैं। वो भी बनना कम हो जायेंगा और धीरे-धीरे आपका बलगम ठीक हो जायेंगा। कुछ मरीज़ ऐसे होते हैं। जो बलगम से परेशान हैं। उन मरीज़ो को कुछ और कारण भी हो सकते हैं। अगर कुछ मरीज़ो को अस्थमा हैं।

अस्थमा के लक्षण हैं या फिर अस्थमा का अटैक आता हैं। ऐसे मरीज़ो को गलत दवाई नहीं देनी चाहिए। अगर आप इस स्टेज में गलत दवाई देते हैं। तब मरीज़ की मौत भी हो सकते हैं। अगर मरीज़ को सांस लेने में परेशानी होती हैं। सांस फूलने लगती हैं छाती में खड़-खड़ होती है। तब मरीज़ को सही दवाई देनी चाहिए। गलत दवाई बिलकुल भी नहीं देनी चाहिए। तब बहुत बड़ी प्रॉब्लम खड़ी हो सकती हैं।

कोई भी मरीज़ अस्थमा से परेशान हैं। तब अस्थमा के मरीज़ में व्रोंकस होते हैं। रेस्प्रेटरी की होती हैं। उसको खोलने की दवाई दी जाती हैं। जिससे मरीज़ को सांस लेने में कोई दिक्कत नहीं आती हैं। क्यूंकि जो अस्थमा के मरीज़ होते हैं। उनकी रेस्प्रेटरी की सिकुड़ती जाती हैं। जिससे मरीज़ को सांस लेने में प्रॉब्लम आती हैं।

सांस लेते वक़्त सीटी जैसी आवाज़ आती हैं। इसलिए मरीज़ को ये सारी परेशानी ना हो तो इस कंडीशन में व्रोंकस खोलने वाली दवाई दी जाती हैं। जिसे व्रोंकोडाइलेटर कहते हैं। अस्थमा में म्यूकस को पतला करने वाली दवाई दी जाती हैं। जिससे म्यूकस बाहर निकल सके।

जिन लोगो को बलगम बनता हैं। उन्हें हमेशा साफ़-सफाई का ध्यान रखना चाहिए। उन लोगो को गंदगी, धुल और पोल्युशन से एलर्ज़ी हैं। उन लोगो को ऐसी जगह से दूर रहना चाहिए। इन जगहों पर नहीं जाना चाहिए और अगर आप बलगम में बीड़ी, सिगरेट, एल्कॉहोल, कोल्ड्रिंक और तम्बाकू का सेवन ज़्यादा करते हैं। तब आप इन सब से बचे क्यूंकि ये आपको बहुत बड़ा नुक्सान देगी। 

जब हम ये सब चीज़े खाते या पीते हैं, तब तो ये हथो-हाथ असर नहीं करेगी। तब आप सोचेगे, कि इनको खाने या पीने से बलगम पर असर नहीं पड़ेगा। इन सब की वजह से बलगम ठीक नही होगा लेकिन ऐसा नहीं हैं। अगर आप ये सब चीज़े अवॉयड कर देते हैं। तो आप खुद ही देखेगे कि आपका पुराने से पुराना बलगम धीरे-धीरे ठीक होने लगेगा। आपको डॉक्टर के पास जाने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी। क्यूंकि स्मोकिंग आपके फेफड़ो के लिए बिलकुल भी ठीक नहीं हैं। जब आप इनको पियेगे तो ये धीरे-धीरे आपको फेफड़ो से सम्बंधित रोगों से ग्रस्त कर देगा और तब आप सोचेगे, कि आपने इनको क्यूँ अवॉयड नहीं किया। लेकिन तब तक बहुत देर हो जाएँगी। इसलिए जो बलगम से परेशान से वो इन सारी चीज़ों को आज से ही बंद कर दे।

ऐसी चीज़ों को ना खाएं और ना पियें। जिनसे आपका बलगम बढ़ जाएंगा और आपका बलगम ठीक ना होकर ये लम्बे समय के लिए आपका साथी बन जाएँगा। अगर ऐसा होता हैं, तो आगे चलकर ये एक भयंकर बिमारी का रूप ले लेगा। ऐसा ना हो इसलिए आप बिना पैसो के ही आपने बलगम को ये तरीके अपनाकर ठीक कर सकते हैं। जिन लोगो को बलगम नहीं हैं, उनकी भी सिगरेट, बीड़ी, एल्कॉहोल और तम्बाकू जैसी चीजों से बचना चाहिए। क्यूंकि ये हेल्थ के लिए बिलकुल भी ठीक नहीं होती हैं। ये आपको बड़ी बिमारी का शिकार कर देती हैं। जो आपकी उम्र को कम कर देती हैं।

इसलिए जितना हो सके आप ऐसी चीज़ों से बचे और आपने आप अपने शरीर को हेल्दी और बीमारियों से दूर रखे बलगम में आपको ये दवाई लेनी चाहिए।

Eucalyptus q , Hydrastis, Balsum Peru

आप इन दवाई को डॉक्टर की सलाह से दिन में कितनी बार और कितनी ड्रॉप्स लेनी हैं। ये सब डॉक्टर की सलाह से ले और अगर आप इन दवाई को नहीं लेना चाहते हैं। तो बलगम में क्या खाने से बचे उन सब चीज़ों को अवॉयड करे ऐसा करने से आपको जो बलगम बनता हैं। वो नहीं बनेगा आपको बहुत आराम मिलेगा।

Recipe Source: Dr.Lokendra Gaud

Image Source: Navbharat Times

5/5 - (2 votes)

Leave a Comment

join us on telegram zayka recipes