सावधान! अगर आप हैं इन बीमारियों के शिकार तो फिर बेल का शरबत आपको दें सकता है नुकसान

इस तपती हुई धूप में हम सबसे अधिक मात्रा में कुछ ठंडा और पेय पदार्थ ही लेना पसंद करते हैं। ऐसे में फलों का रस सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है। इन दिनों जूस कॉर्नर पर भी काफी भीड़ होती है लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि हर फल का जूस आपके लिए उचित नहीं होता है।
गर्मियों में मौसमी, अनार, गन्ने और बेल का रस सबसे अधिक मात्रा में पिया जाता है और इनमें से बेल का शरबत हर किसी के लिए सही नहीं होता हैं बेल का रस जहां गर्मियों में ठंडा पदार्थ है वहीँ पर कुछ लोगों को यह नुकसान भी पहुंचा सकता है कुछ बीमारियों से पीड़ित लोगों के लिए यह काफी हानिकारक भी सिद्ध हो सकता है। आइये बताते हैं आपको इससे होने वाले नुकसान के बारे में।

बेल का रस हो सकता है हानिकारक

bel ka sharbat
एबीपी न्यूज़ की तरफ से जब न्यूट्री हेल्थ की फाउंडर और मशहूर न्यूट्रिशनिस्ट डॉ.शिखा शर्मा से बेल के रस को लेकर के सवाल किए गए तब मालूम हुआ कि यह रस स्वास्थ के लिए कभी-कभी हानिकारक भी हो सकता है।

मधुमेह के रोगियों के लिए नहीं है बेल का जूस

डॉक्टर शिखा के कहे अनुसार बेल का शरबत गर्मी के मौसम को देखते हुए बहुत लाभदायक है लेकिन सिर्फ उनके लिए जो मधुमेह यानि कि डायबिटीज़ के रोगी नहीं हैं यह मधुमेह के रोगियों के लिए काफी हानिकारक है क्योंकि इसमें चीनी का भी प्रयोग होता है।

बी.पी. के मरीजों के लिए भी हानिकारक है बेल का शरबत

बेल का शरबत आसानी से पचाया जा सकता है लेकिन हाई ब्लड प्रेशर से झूझ रहे लोगों के लिए भी डॉक्टर ने इसे बहुत ज्यादा हानिकारक बताया है।

कार्डियक रोगियों को भी बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं लेना चाहिए ये रस

जहां बेल का जूस गैस और कब्ज़ जैसी बीमारियों के लिए काफी फायदेमंद सिद्ध होता है वहीँ पर कार्डियक के मरीज़ के लिए ये बहुत खतरनाक भी हो सकता है कार्डियक के रोगी को बिना डॉक्टर की सलाह के कभी भी बेल का शरबत नहीं लेना चाहिए।

किसी भी दवा के सेवन करने वाले को भी बेल का रस लेने से पहले लेनी चाहिए डॉक्टरी सलाह

शरीर के खून को साफ़ रखने में भी बेल का रस बहुत ज्यादा सहायक है। लेकिन आगर आप किसी भी प्रकार की दवा का सेवन लगातार कर रहे हैं तो फिर बिना डॉक्टर की सलाह के बेल के शरबत का सेवन कभी नहीं करना चाहिए।

30 वर्ष से अधिक आयु वालों को बिना सलाह के नहीं लेना चाहिए यह ठंडा बेल का जूस

अगर आप 30 वर्ष से कम उम्र के लोगों में शामिल हैं तो फिर बेल के शरबत को अवश्य अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं लेकिन अगर आपकी उम्र 30 वर्ष से अधिक है तो रोज़ाना बेल के रस को लेने से पहले डॉक्टरी सलाह ज़रूर लें।

बेल का शरबत टीनेजर्स के लिए बहुत ही लाभदायक होता है क्योंकि इसमें कई ज़रूरी तत्व जैसे कि विटामिन-सी, प्रोटीन, थायमीन, बीटा-कैरोटीन और रिबोफ्लेविन कफी ज्यादा मात्रा में मौजूद होते हैं।

शेयर करें:

Leave a Comment