जानिए, चाइना की वो डिश जो आपकी भी है फेवरेट

मोमोज हर किसी की पसंदीदा डिश में शामिल हो चुका है। पहले ज्यादातर ये पहाड़ी इलाकों में ही फेमस था लेकिन अब ये दिल्ली, लखनऊ, जयपुर, हैदराबाद जैसे शहरों में भी आसानी से मिल जाता है। लोगों की पसंद को देखते हुए अब ये बड़े-बड़े रेस्टोरेंट और होटल में भी मिलने लगा है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपके पसंदीदा मोमोज कहा से आए। आज जानते है इससे जुड़ी कुछ खास बातें।

चाइना में मोमोज को कहते हैं डिमसम

momos recipe

मोमोज तिब्बत और नेपाल की पारंपरिक डिश है। मोमोज को लोग मोमो के नाम से भी जानते हैं। मोमो एक चाइनीज शब्द है जिसका मतलब भाप से पकी हुई रोटी होता है। मोमोज को चाइना में डिमसम के नाम से जाना जाता है। चाइनीज डिमसम में सुअर का मांस, बीफ, झींगा, टोफू और सब्जियों को भरा जाता है। नॉर्थ ईस्ट में शिलांग एक ऐसी जगह है जहां अन्य राज्यों की तुलना में सबसे स्वादिष्ट मोमोज मितले हैं। यहां पर मीट से बने मोमो ज्यादा खाए जाते हैं। शिलांग में मोमोज एक चीनी समुदाय द्वारा लाया गया था, जो चीन से आकर शिलांग में बस गया था। फिर उसी समुदाय ने चायनीज फूड की यहां शुरुआत की।

कई तरह की स्टफिंग के होते हैं मोमो

मोमोज की फिलिंग हरी सब्जियों, चिकन, पनीर और एग की स्टफिंग से की जाती है। इसे बिना तेल मसाले के स्टीम में पकाया जाता है और तीखी मिर्च की चटनी और मियोनीज के साथ परोसा जाता है। ये अरुणाचल प्रदेश, तिब्बत, सिक्किम, मेघायल, पश्चिम बंगाल की अहम डिश है। इसे लोग सुबह और शाम के नास्ते के रूप में खाते हैं।

शेयर करें:

Leave a Comment