आटे की सब्ज़ी बनाने की रेसिपी – Rajashani Shakki ki Sabji Recipe

आटे को हम सब आम तौर पर रोटी, (roti) पराठा, (paratha) पूरी (puri) या फिर आटे का हलवा (aate ka halwa) बनाने के लिए ही इस्तेमाल करते हैं और आज हम आपके साथ आटे की सब्ज़ी बनाना (aate ki sabzi) शेयर करेंगे आटे की सब्ज़ी (chakki ki sabzi) को राजस्थान में चक्की की सब्ज़ी भी कहते है ये आटे की सब्ज़ी राजस्थान में बहुत बनाई जाती है

(chakki ki sabzi) आटे की सब्ज़ी खाने में स्वादिस्ट के साथ-साथ पौष्टिक भी बहुत होती है इस सब्ज़ी के बारे में बहुत ही कम लोग जानते होंगें मैंने भी जब ये सब्ज़ी पहली बार खायी थी तो मैं भी पहचान ही नही पाई की ये आटे से बनी हुई  है तो फिर चलिए आज हम आटे की सब्ज़ी (chakki ki sabzi) बनाने की रेसिपी देखते हैं

गेहूं के आटे के फायदे Health benefits of wheat flour

  • आटा हमारे शरीर की (immunity) को बढ़ाता है
  • ये हमें (diabetes) से भी दूर रखता है
  • आटा (asthma) से भी बच्चों को बचाता है
  • ये औरतों को (breast cancer) से बचाता है

आवश्यक सामग्री – necessary ingredients – chakki ki sabji recipe

  • आटा  = 250 ग्राम
  • पानी = एक गिलास
  • सरसों का तेल = एक कटोरी
  • प्याज़ = दो अदद
  • लहसुन = 10 कलीयां
  • टोमेटो साँस =  आधी कटोरी
  • आलू = दो अदद
  • नमक = स्वादअनुसार
  • हल्दी = आधा छोटा चम्मच
  • धनिया पाउडर = एक छोटा चम्मच
  • लाल मिर्च पावडर = आधा छोटा चम्मच
  • हरी मिर्च = दो अदद
  • खटाई = आधा चम्मच
  • गर्म मसाला = आधा चम्मच
  • ज़ीरा = आधा चम्मच
  • मेथी = ¼ चम्मच
  • राई = आधा चम्मच
  • सौफ = आधा चम्मच

विधि – how to make chakki ki sabji recipe

(chakki ki sabzi) आटे की सब्ज़ी बनाने के लिए सबसे पहले हम आटे को गूंध लेंगे जैसे की रोटी बनाने के लिए गूंधते हैं गूंध हुए आटे को कम से कम 4 से 5 घंटे के लिए रख देंगे इससे सब्ज़ी अच्छी बनती हैं 4 घंटे बाद  गुंधे हुए आटे को अच्छे से धो लें।

गुंधे हुए आटे को धोने के लिए एक भगोना ले लें और उसमे आधा भगोने से ज्यादा पानी भर लें अब उसमे गुंधे हुए आटे को डाल कर अच्छे से धोए और भगोने के पानी को बार-बार बदलते हुए आटे को धोते रहें।

गूंधे हुए आटे को तब तक धोए जब तक की भगोने का पानी साफ़ न निकलने लगे जब आटा पूरी तरह से साफ़ हो जाए तो फिर उसे एक तरफ रख दें।

एक कड़ाही को गैस की मीडियम आंच पर रख दें और कड़ाही में तेल डालें और उसे गर्म होने दें तब तक आप धुले हुए आटे की छोटी-छोटी गोलियां बना लें जब तेल अच्छे से गर्म हो जाए तो फिर इसमें आटे की गोलियों को डालें तेल में डालने पर आटे की गोलियां फूल कर बड़ी हो जाएगी इन्हें हल्का सुनहरा होने तक अच्छे से फ्राई कर लें जब सारी की सारी आटे की गोलियां फ्राई हो जाए तो फिर कड़ाही से तेल निकाल लें कड़ाही में बस दो चम्मच ही तेल रहने दें।

कड़ाही में अब ज़ीरा, मेथी, सौफ और राई डालें जब ये तड़कने लगें तो इसमें पीसी हुई प्याज़, लहसुन और हरी मिर्च का पेस्ट डाल कर अच्छे से भून लें अब इसमें हल्दी, नमक, धनिया पाउडर, लाल मिर्च पावडर और खटाई डाल कर मसाले को खूब अच्छे से भूनें मसाले को तब तक भूनें जब तक की ये तेल न छोड़ दें।

भुने हुए मसाले में टोमेटो साँस डाल कर इसे अच्छे से मिला लें और एक तरफ आलू को काट कर फ्राई कर लें। जब आलू फ्राई हो जाए तो फिर आलू और फ्राई की हुई आटे की गोलियों को मसाले में डाल दें और कड़ाही को एक प्लेट से ढक दें कम से कम 10 से 12 मिनट के लिए।

अब इसमें एक गिलास पानी डाल कर इसे पकने दें जब आलू अच्छे से गल जाए और सब्ज़ी लटपटी (chakki ki sabzi) दिखने लगे (ग्रेवी भी गाढ़ी हो जाए) तब इसमें ऊपर से गर्म मसाला डाल कर मिला लें और गैस को बंद कर दें।

गरमागर्म आटे की सब्ज़ी (chakki ki sabzi) बनकर तैयार है आप इसे रोटी, पराठें या पूरी के साथ खाएं।

सुझाव

  • आटा गूंधने के बाद इसे 4 से 5 घंटे फूलने के लिए जरुर रखें इससे सब्ज़ी (chakki ki sabzi) स्वादिस्ट बनेगी।
  • गुधे हुए आटे को अच्छे से पानी से धोएं इससे आटे का चिप-चिपा पन खत्म हो जायेगा।
  • आप ग्रेवी में टमाटर का पेस्ट भी डाल सकते हैं।
शेयर करें:

Leave a Comment