सिर्फ खानों में ही नहीं बल्कि आयुर्वेद में भी बड़े काम की है काली मिर्च

kali mirch ke fayde काली मिर्च का प्रयोग व्यंजन बनाने में किया जाता है। (black pepper benefits in hindi) और यह खाने के स्वाद को और जबरदस्त बना देती है। लेकिन किया आपको पता है कि इसका प्रयोग आयुर्वेद में भी क्या जाता है। चलिए आपको बताते है की इसके उपयोग कई सारी बीमारियों के उपचार के लिए भी किया जाता है।

काली मिर्च के फायदे black paper benefits

दो ग्राम काली मिर्च का पाउडर, गुड़ के साथ में मिलाकर खाने से जुकाम बहुत ही जल्द ठीक हो जाता है।
काली मिर्च में घी और चीनी मिलाकर खाने से आंखों की परेशानी खत्म हो जाती है।

काली मिर्च पाउडर दही में डालकर अच्छे से मिक्स कर लें फिर इसे गुड़ के साथ लेने से नाक से खून आना बंद हो जाता है और सर दर्द में भी आराम मिलता है।

काली मिर्च में मौजूद potassium ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखता है।  नींबू व अदरक का 5-5 ग्राम रस में 1 ग्राम काली मिर्च पाउडर मिलाकर लेने से पेट का दर्द तुरंत ही ठीक हो जाता है।

रोज़ाना सुबह गर्म पानी के साथ में काली मिर्च का प्रयोग करने से बॉडी की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

अगर किसी को गैस की शिकायत है तो फिर उसको एक कप पानी में आधे नींबू का रस, छोटा आधा चम्मच काली मिर्च पाउडर और आधा चम्मच काला नमक मिलाकर रोज़ाना कुछ दिन तक खाने से गैस की समस्या  दूर हो जाती है।

खांसी और गले की खराश के लिए भी आप तीन से चार चुटकी काली मिर्च पाउडर और एक चम्मच शहद मिलाकर रोज़ाना सुबह व शाम को इसे चाटने से खांसी में तुरंत आराम मिलता है।

कील और मुहांसे के लिए पंद्रह से बीस काली मिर्च को गुलाब जल में पीस कर रात को चेहरे पर लगा लें। और सुबह को गुनगुने पानी से चहरे को धो ले कुछ दिनों तक लगातार ऐसा करने से चेहरे के सभी कील-मुहांसे ठीक हो जाते है।

भूख ना लगने पर काली मिर्च, ज़ीरा, सेंधा नमक, सोठ और पीपल को एक बराबर मात्रा में लेकर बारीक़ पीस कर इसका चूरन बना लें और खाना खाने के बाद आधा-आधा चम्मच दो बार लेने से भोजन अच्छी तरह से पच जाता है।

शेयर करें:

Leave a Comment