गोभी के पराठे स्वाद ऐसा मस्त कि इसके आगे आलू के पराठे फीके पड़ जाएं – gobi ka paratha banane ki vidhi

गोभी के पराठे (gobi ka paratha) उत्तर भारत, और ख़ासतौर पर पंजाब (Punjab) की ख़ासियत हैं जाड़े के मौसम में जब बाज़ार ताज़ी-ताज़ी गोभी से भरे होते हैं तो फिर गोभी के पराठे बनाने (gobi ka paratha) का मज़ा ही कुछ और होता है

वैसे गरमागर्म भरवाँ पराठे (bharavaan paraathe) तो किसी भी मौसम में मिल जाएँ तो फिर मज़ा आ जाता है भरवाँ पराठे लंच बॉक्स के लिए भी अति उत्तम विकल्प हैं अब आप चाहे गोभी के पराठे (gobi ka paratha) को मक्खन से खाए या दही से यह हमेशा ही ज़ायकेदार लगते हैं तो फिर चलिए बनाते हैं स्वादिष्ट (gobi ka paratha) गोभी के पराठे…..

आवश्यक सामग्री – necessary ingredients – gobi ka paratha  recipe

  • गोभी = एक मीडियम
  • ज़ीरा = ½ छोटा चम्मच
  • हल्दी = दो चुटकी
  • हरी मिर्च = दो अदद
  • अदरक = एक इंच का टुकड़ा
  • हींग = एक चुटकी
  • नमक = ¾ छोटा चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर = ¼ छोटा चम्मच
  • चाट मसाला पावडर = ½ छोटा चम्मच
  • मेथी पाउडर = ¼ छोटा चम्मच
  • हरा धनिया = एक बड़ा चम्मच
  • तेल = दो छोटे चम्मच

आटा गूथने के लिए

  • गेहूँ का आटा = दो कप
  • नमक = ¼ छोटा चम्मच
  • तेल = 3 से 4 बडे चम्मच पराठे सेकने के लिए
  • पानी करीब = एक कप आटा गूधने के लिए
  • सूखा आटा करीब = दो  बडडे चम्मच, पराठा बेलने के लिए

विधि – how to make gobi ka paratha  recipe

सबसे पहले गोभी के पत्ते और डंठल हटा कर इसे धो लें अब गोभी को बड़े छेद़ वाले कद्दूकस से घिस लें और घिसने पर तकरीबन 4 से 5 कप गोभी निकलेगी जो पककर सिर्फ आधी ही रह जाएगी

अदरक को छीलकर धो लें और कद्दूकस कर लें हरी मिर्च का डंठल तोड़ लें और उसे धो कर बारीक-बारीक काट लें

अब एक नॉन स्टिक कड़ाही में मीडियम गैस पर तेल गर्म करें जब तेल गर्म हो जाएं तो इसमें ज़ीरा डालें और कुछ सेकेंड के लिए भूनें और फिर हींग डालें अब गैस को धीमी करके कटी हुई हरी मिर्च और अदरक डालकर कुछ सेकेंड्स तक भूनें

अब इसमें घिसी हुई गोभी और हल्दी डालें और सारी सामग्री को अच्छे से मिलाएँ और गोभी (Gobhi Paneer Kofta Recipe) को एक मिनट तक भूने अब इसमें लाल मिर्च पावडर, नमक, और मेथी पाउडर डालें और सारी सामग्री को खूब अच्छी तरह से मिक्स कर लें अब स्लो गैस करके गोभी के गलने तक इसे पकाएँ इसमें करीब 8 से 10 मिनट का समय लगता है

जब गोभी गल जाए तो फिर इसमें चाट मसाला और कटा हुआ हरा धनिया डालें और फिर इसे अच्छे से भूने गोभी का मसाला जितना ज्यादा सूखा होगा उतना ही इसे पराठे में भरना आसान होगा अब गैस को बंद कर दें और गोभी की भरावन को थोड़ा सा ठंडा होने दें

आटा गूधने के लिए

एक बर्तन में आटा और नमक लेकर अच्छे से मिक्स कर लें और अब इसमें थोड़ा-थोड़ा पानी डालते हुए मुलायम आटा गूँध लें अब इस आटे को गीले कपड़े से ढककर बीस मिनट के लिए रख दें

अब गुंधे हुए आटे को 7 बराबर हिस्सों में बाँटे और इनकी लोइयाँ बना लें लोई को भरने के बाद जब हम उसके ऊपर से अतिरिक्त आटा हटाएगें तो फिर उससे हमारा आठवाँ पराठा बनेगा।

पराठे बनाने के लिए

तवे को मीडियम गैस पर गर्म होने के लिए रख दें और जब तक तवा गरम हो रहा है।

आप एक लोई लें और इसे सूखे आटे (परथन) की मदद से 3 इंच के गोले में बेल लें अब इसके बीच में हल्का सा तेल लगाएँ और एक से डेढ़ चम्मच गोभी का मसाला रख लें अब किनारों को पास लाते हुए गोले को बंद कर दें मैं ऊपर की खाली चोंच को निकलना पसंद करती हूँ ऐसा करने से मसाला एकसार फैलता है लेकिन अगर आप को यह प्रक्रिया मुश्किल लगती है तो फिर आप सीधे लोई बंद करके बेलें

अब इस गोभी भरी हुई लोई को सूखे आटे (परथन) की मदद से 5 इंच के गोले में बेले भरवाँ पराठे सादे पराठे से थोड़े मोटे बिल पाते हैं।

बेले हुए गोभी के पराठे को गर्म तवे पर डाले और तकरीबन 20 सेकेंड्स इंतजार करे और फिर पराठे को पलट दें अब पराठे के ऊपर तेल लगाएँ और हल्के से कलची से दबाएँ पराठा फूल जाएगा मूली के पराठे कभी-कभी नही भी फूलते हैं तो इसमें आप ज़्यादा परेशान ना हों और पराठे को दोनों तरफ से तेल लगाकर अच्छे से सेक लें।

इसी तरह से सारे के सारे पराठे बना कर तैयार कर लें अगर आपने गोभी भरने के बाद ऊपर से एक्सट्रा आटा निकाला है तो फिर उस आटे को मिलाकर आठवाँ पराठा बना लें।

स्वादिष्ट गोभी के पराठे बनकर तैयार हैं आप इनको दही, अचार, चटनी, या फिर अपनी मनपसंद की सब्ज़ी के साथ सर्व करे और खाएं।

टिप्स 

जब तक आपका एक पराठा तवे पर सिक रहा है आप दूसरा पराठा बेल कर तैयार कर सकते हैं इससे आपका समय और ईधन दोनों की ही बचत होती है।

अगर आप चाहें तो पानी की जगह पर दूध से भी आटा गूध सकते हैं इससे पराठे और ज्यादा मुलायम और ख़स्ता बनते हैं।

अगर आप रोज़ाना में रोटी या फिर पराठा बनाते हैं तो फिर थोड़ा सा सूखा आटा जिसे परथन भी कहते हैं उसे एक स्टील या प्लास्टिक के गोल डब्बे में अलग रख लें इससे रोटी, पराठा बेलने में काफी आसानी रहती।

इस रेसिपी से जुडा हुआ कोई भी सवाल आप के मन में हो तो नीचे दिए गए कमेन्ट बॉक्स में लिखें या अपनी राय दें।

शेयर करें:

Leave a Comment