5 तरह के होते है नमक, जानिए सेहत के लिए कौन सा है सही Types of Salt in Hindi

Types of Salt in Hindi नमक हर रसोई का राजा होता है। यह एक ऐसा मसाला है जिसे हर चीज में प्रयोग किया जाता है। कुछ लोग ज़्यादा नमक खाना पसंद करते हैं तो कुछ लोगो को ​कम नमक खाना पसंद होता हैं।

नमक सोडियम का बहुत ही अच्छा व सीधा स्त्रोत कहा जाता है। सोडियम हमारे शरीर में खाना पचाने के साथ-साथ हमारे पाचन तंत्र को भी सही रखता है। परन्तु जब लोग सोडियम का ज़्यादा मात्रा में सेवन करने लगते हैं तो फिर ये हमारी बॉडी को फायदे की जगह पर नुकसान पहुंचाता है।

जबकि अपने शुद्ध रूप में नमक सोडियम क्लोराइड से बना हुआ होता है। हमारी बॉडी इन तत्वों को अपने आप नहीं बना सकती है इसीलिए हमें इनको अपने आहार से प्राप्त करना पड़ता है।

सोडियम और क्लोराइड हमारी बॉडी की हर कोशिका के अंदर व बाहर मौजूद अन्य खनिजों के साथ तालमेल बनाकर बॉडी को सुचारू रूप से चलाने में हमारी मदद करता है।

दोस्तों आज में आपको बता रही हूँ कि नमक एक ही नहीं बल्कि पूरे पांच तरह का होता है। चलिए आपको बताते है कि कौन सा नमक हमारी सेहत के लिए सबसे बेस्ट होता है।

टेबल सॉल्ट (सादा नमक) – table salt in hindi

इस नमक में सोडियम की मात्रा सबसे ज़्यादा होती है। टेबल सॉल्ट में Iodine भी उचित मात्रा में पाया जाता है जो हमारी बॉडी की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। अगर नमक का सेवन लिमिटेड मात्रा में किया जाए तो फिर ये कई फायदे करता है लेकिन इसका ज़्यादा मात्रा में सेवन करना मतलब हमारी हड्डियों को सीधे तौर पर प्रभावित करता है। जिससे हड्डियां कमजोर होने लगती हैं। आपने देखा ही होगा की आजकल के युवा कई तरह के हड्डी रोगों से त्रस्त है और इसकी सबसे बड़ी वजह है नमक का ज़्यादा मात्रा में सेवन और फास्ट फूड की लत है।

सेंधा नमक – sendha namak

इस नमक को रॉक सॉल्ट यानि कि व्रत का नमक और लाहोरी नमक से भी जाना जाता है। ये नमक रिफाइन के बिना ही तैयार किया जाता है। जबकि  इसमें कैल्शियम, पोटेशियम और मैग्नीशियम की मात्रा सादे नमक की तुलना में काफी ज्यादा होती है। साथ ही यह हमारे स्वास्थ के लिए भी बहुत ही अच्छा होता है। जिन भी लोगों को हार्ट व किडनी सें संबंधित परेशानियां होती हैं उनके लिए तो इस नमक का सेवन करना बहुत ही फायदेमंद होता है। आप अपने खानें में सादे नमक की जगह पर सेंधा नमक भी इस्तेमाल कर सकते है में भी अपने खानो में सेंधा नमक की इस्तेमाल करती हूँ।

काला नमक – black salt in hindi

काले नमक का इस्तेमाल करना हर तरह के लोगो के लिए फायदेमंद होता है। इस नमक के ​सेवन से कब्ज, बदहजमी, चक्कर आना, उल्टी आना, पेट दर्द और जी घबराने जैसी सारी समस्याओं से छुटकारा मिल जाता है। गर्मी के मौसम में तो डॉक्टर भी नींबू पानी या फिर मठ्ठे के साथ में काले नमक का सेवन करने की राय देते हैं।

यहाँ हम आपको बता दें कि काला नमक सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद होता है परन्तु इसमें फ्लोराइड भी मौजूद होता है इसीलिए इसके ज़्यादा सेवन से नुकसान होने का खतरा बना रहता है।

लो-सोडियम सॉल्ट – low sodium salt

इस नमक को बाज़ार में पोटेशियम नमक भी कहा जाता है। सादे नमक की तरह इस नमक में भी सोडियम और पोटेशियम क्लोराइड होते हैं। जिन भी लोगों को हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होती हैं उन सभी लोगो को लो सोडियम नमक का इस्तेमाल करना चाहिए। इसके अलावा हदय रोगी और मधुमेह रोगी के लिए भी लो सोडियम नमक बहुत ही फायदेमंद होता है।

सी सॉल्ट – sea salt in hindi

इस नमक को वाष्पीकरण के माध्यम से बनाया जाता है और ये सादे नमक की तरह से नमकीन नहीं होता है। सी सॉल्ट का इस्तेमाल पेट फूलने, सूजन, थकान, आंत-संबंधी गैस व कब्ज जैसी समस्याओं के समय उपयोग करने की सलाह दी जाती है।

शेयर करें: