फलाहार व्यंजन बनाने के लिए सबसे बेस्ट है टिप्स – World Best Tips

व्रत के दौरान सभी लोग ज़्यादातर फलाहारी चीजें बनाने के लिए मूंगफली, साबूदाना, कुट्टू के आटे, मखाने और चीनी का ही प्रयोग करते है।अगर आप इनसे व्रत के पकवान बना रही हैं तो फिर ये छोटे-छोटे टिप्स आपके बहुत काम के है।

टिप्‍स

साबूदाना भिगोते समय रखें ख्याल

व्रत के दौरान ज़्यादातर चीजें साबूदाना से ही बनती हैं। और आप इनसे बनी हुई चीजें खाना भी बहुत ज़्यादा पसंद करते हैं क्योंकि इससे इनसे कई फलाहारी पकवान जल्दी और काफी आसानी से बन जाते है।

अगर आप साबूदाने को ज़्यादा देर तक भिगोकर रखेंगे तो फिर यह तलने में तेल और पकने में टाइम भी ज्यादा लगेगा और आप देखते भी होंगे कि इसके बड़े तलने में काफी ज़्यादा तेल लगता है।

साबूदाने को फिक्स टाइम तक ही भिगोकर रखें। अगर इसका ऊपरी हिस्सा पारदर्शी रहेगा तो फिर यह प्रयोग के लिए बहुत बढ़िया है। अच्छी तरह से भिगोकर रखे गए साबूदाने में तेल भी काफी कम लगता है। आप साबूदाने को दबाकर भी इसकी पहचान कर सकते हैं कि यह अच्छी से फूल गया है या फिर नहीं।

तलने से अच्छा है मूंगफली को रोस्ट करें

फलाहार के काफी सारे खानों को बनाने के लिए मूंगफली का इस्तेमाल भी होता है। और इसको किसी भी पकवान में डालते समय अक्सर लोग ज़्यादातर तल देते हैं। जो कि बिलकुल गलत तरीका है तलने से अच्छा है इसे तवे या फिर कढ़ाई में भून लें। बिना तेल डाले हल्का-सा सुनहरा या फिर भूरा होने तक भून लें। और ऐसा करने से चाहे साबूदाने की खिचड़ी हो या बड़े या फिर दूसरी और चीजों में डालकर बनाने में काफी कम तेल लगेगा।

सिंघाड़े के आटे को इस तरह से गूंदें

सिंघाड़े के आटे को सामान्य आटे की तरह से कभी न गुंधे। क्योंकि इसका आटा कॉर्नफ्लोर की तरह से होता है। अगर इसमें आपने ज़्यादा पानी डाल दिया तो इसे गूंधने में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है। इससे बचने के लिए इसे गूंधते समय हल्का-सा तेल मिलाएं और फिर ऊपर से थोड़ा-थोड़ा पानी डालते हुए आटा गूंधते जाए।

शेयर करें:

Leave a Comment