सावन के महीने में क्या खाएं क्या ना खाएं? क्या कहता है आयुर्वेद

sawan ke mahine me kya khana chahiye सावन का महीना वर्षा और हरियाली से भरपूर होता है और इस मौसम में बीमारियां होने की संभावना भी काफी बढ़ जाती है। इसीलिए इस महीने में खान-पान में खास सावधानी बरतनी चाहिए। आयुर्वेद में सावन के महीने में खान-पान को लेकर के विशेष निर्देश दिए गए हैं।

इसके साथ ही सावन के इस महीने में भगवान शिव की अराधना होती है सोमवार के दिन व्रत रखे जाते हैं सावन के पूरे महीने सात्‍व‍िक धर्म का अच्छे से पालन करने की परंपरा है और इसमें रहन-सहन व खानपान का बहुत ही अहम स्‍थान है इसीलिए इसके बारे में बहुत सारी बातें बताई जाती हैं

सावन के व्रत और कथा के बारे में तो करीब-करीब हर कोई जानता है परन्तु क्‍या आप ये जानते हैं कि इस महीने में कौन से फूड खाना हमारी सेहत के लिए अच्छा होता है और कौन से फूड खाने से नुकसान पहुंचा सकता है।

सावन के महीने में क्या ना खाएं sawan ke mahine me kya khana chahiye

दही के व्यंजन

Same yogurt dishes

सावन में दही नहीं खानी चाहिए।

वजह

इसकी ठंडी प्रकुति के कारण ये हमे नुकसान पहुंचा सकती हैं (yogurt recipe) इसे खाने से सर्दी-जुकाम गले से संबंधित बीमारियाँ भी हो सकती हैं वैसे भी ये दूध से बनी होती है।

बैंगन

brinjal

सावन में बैंगन की सब्जी खाने की है मनाही।

वजह

इसके पीछे कुछ धार्मिक मान्यताएं जुडी हुई हैं उनके मुताबिक बैंगन की सब्ज़ी को अशुद्ध माना जाता है। इसीलिए सावन के माह में इसको नहीं खाना चाहिए।

वैसे भी इन दिनों बैंगन (brinjal) में कीड़े ज्यादा लगते हैं। और इसके अलावा डाइजेशन कमज़ोर होने से बैंगन से गैस ज्यादा बनने कि संभावना होती हैं।

हरी पत्तेदार सब्जियां

Green leafy vegetables

ये तो हर कोई जानता है कि सावन में हरे रंग का बहुत ही महत्व होता है। परन्तु आपको ये बात जानकर आश्चर्य होगा कि सावन में हरे पत्तेदार सब्जियां खाने को मना किया गया है।

वजह

कहते है कि हरी पत्तेदार सब्जियां हमारे शरीर में वात को बढ़ाती हैं। इसीलिए सावन के महीने में इनको खाने से बचना चाहिए वहीं पर अगर इसका वैज्ञानिक कारण देखा जाए तो इन दिनों पत्तेदार सब्जियों में बैक्टीरिया और जीव-जन्तु ज्यादा पनपते हैं। (green leafy vegetables) इन्हें खाने से पेट की बीमारियाँ होने कि संभावना रहती हैं।

दूध

Milk

सावन के महीने में कच्चा दूध नहीं पीना चाहिए।

वजह

यही कहा जाता है कि कच्चा दूध भोलेनाथ को अर्पित किया जाता है। इसीलिए बरसात में इसका सेवन नहीं करना चाहिए वैसे भी इस मौसम में दूध पीने से गैस और पेट की बीमारियाँ होने कि संभावना ज्यादा बढ़ जाती हैं।

कढ़ी

Pakoda Kadhiसावन के इस पावन महीने में कढ़ी नहीं खानी चाहिए।

वजह

क्योकि कढ़ी में प्याज़ और दूध से बनने वाली चीजों का इस्तेमाल होता है इसीलिए कढ़ी नहीं खानी चाहिए।

मांस मछली, लहसुन और प्याज नहीं खाना चाहिए

Meat fish and garlic onionसावन में मांस मछली खाने से बचना चाहिए इसी तरह से लहसुन और प्‍याज़ के सेवन से परहेज़ करना चाहिए।

वजह

बरसात में तामसिक प्रवृत्ति के भोजनों को खाने को मना किया गया है परंपरा इसका कारण है। वैसे भी बारिश के मौसम में तालाब और नालो का पानी प्रदूषित हो जाता है और इस प्रदूषित पानी के कारण पानी में रहने वाले सभी जल-जीव भी दूषित हो जाते है।

ज्यादा तला भुना और हेवी खाना

More roasting and heavy food

सावन के महीने में ज़्यादा तला भूना खाना नहीं खाना चाहिए।

वजह

क्योकि इस मौसम में डाइजेशन कमज़ोर रहता हैं इसीलिए ज्यादा ऑइली और हेवी फ़ूड नहीं खाना चाहिए।

सावन के महीने में क्या खाएं

आयुर्वेद के मुताबिक इस महीने में जल्दी पचने वाले ताज़े और गर्म फ़ूड खाने चाहिए।

लौकी तुरई जैसी सब्जियां खानी चाहिए

Wheat

सावन के इन महीने में लौकी, तुरई और टमाटर जैसी जल्दी पचने वाली और बैल पर उगने वाली सब्जियां ही खानी चाहिएं।

सेब, केले, आम और जामुन जैसे फल खाने चाहिए

apple

आयुर्वेद के मुताबिक सावन के महीने में सेब, केला, अनार,नाशपाती, जामुन और आम जैसे मौसमी फल खाना चाहिए।

मूंग जैसा अनाज

Wheat

सावन में पुराना चावल, गेहू, मक्का, सरसों, मूंग और अरहर की दाल जैसे अनाज खाने चाहिए।

हरड़

harad

आयुर्वेद के मुताबिक इस मौसम में हरड़ खाने से पेट की सारी बीमारियों से बचाव होता हैं

केवल गर्म फ़ूड

Hot food

इस मौसम में गर्म और ताज़ा फूड, हॉट ड्रिंक्स ज्यादा लेना चाहिए।

keyword: sawan me kya khana chahiye, sawan ke mahine me kya khana chahiye,ayurved ke anusar sawan me kya khaye, what not to eat in shravan month

शेयर करें:

Leave a Comment