इस जलती हुई गर्मी से राहत दिलाएगा आपको ये ठंडा ठंडा शरबत Fennel Seeds Drink

saunf sharbat recipe in hindi आज में आपको सौफ का शरबत बनाने की रेसिपी बताने वाली हूँ। आजकल तापमान बहुत ज़्यादा गर्म हो रहा है और हर तरफ चिलचिलाती धूप ही धूप है। ऐसी गर्मी में हमे ठंडी-ठंडी चीजों का ही सेवन करना चाहिए। इसीलिए आज में आपके लिए सौफ का शर्बत बनाने की रेसिपी लेकर आई हूँ।

ये इस जलती हुई गर्मी से आपको एकदम राहत दिलाता है। और साथ ही ये आपकी पाचन क्रिया को भी सुधार देगा इसी के साथ ही ये नकसीर चलने में भी बहुत फायदेमंद होता है। तो हुआ ये बहुत ही फायदेमंद तो इस गर्मी आप भी पिए ठंडा-ठंडा सौफ का (Fennel Seeds Drink) शरबत।

आवश्यक सामग्री – Ingredients for saunf sharbat recipe

  • भीगी हुई सौंफ = एक  कप
  • चीनी = एक किलो
  • भीगी हुई छोटी इलायची = 40
  • चीनी = चार टेबल स्पून, सौंफ, इलायची पीसने के लिए

विधि – How to make Fennel Seeds Drink

सौंफ का शरबत बनाने के लिए सबसे पहले सौंफ को अच्छे से साफ करके धोकर पानी में चार से पांच घंटे के लिए भिगोकर रख दें। इसी तरह से छोटी इलायची को भी पानी से धोकर थोड़े से पानी में भिगो कर रख दें।

तय समय बाद सौंफ को पानी से निकलकर पीसने के लिए मिक्सर जार में डाल दें। और दो टेबल स्पून चीनी डाल दें ताकि आपकी सौंफ जल्दी पिस जाए। अगर आपको सौंफ सूखी लगे तो इसमें ज़रा सा पानी डालकर इसे बारीक पीस लें।

अब पिसी हुई सौंफ को छलनी में छानकर लें। दबा-दबाकर इसका सारा जूस बाउल में निकाल लें और जो मोटी सौंफ छलनी में बच जाएं उसे किसी कटोरी में निकाल दें। बाकि की बची हुई सौंफ को भी इसी तरह से बारीक़ पीसकर जूस निकाल लें। जो आपने मोटी सौंफ कटोरी में रखी थी उस मोटी सौंफ में आधा कप पानी डालकर इसे एक बार फिर से पीसकर छान लें।

अब भीगी हुई छोटी इलायची को जार में दो टेबल स्पून चीनी डालकर एकदम बारीक होने तक पीस लें। और फिर इसे भी सौंफ ही की तरह से छान लें और इसक भी मोटा भाग निकाल दें।

चाशनी बनाएं

चाश्नी बनाने के लिए एक बड़े भगोने में चीनी, सौंफ-छोटी इलायची का तैयार जूस डाल दें। और इसे गाढ़ा होने तक पकाएं थोड़ी-थोड़ी देर में चलाते रहे। चाशनी की कन्सिस्टेन्सी ऎसी होनी चाहिए कि जब आप चाशनी की आखिरी बूंद गिराकर देखें। तो वह गिरते हुए तार की तरह से दिखे।

इस कन्सिस्टेन्सी आने तक चाशनी को थोड़ी-थोड़ी देर में चलाते हुए पकाएं। और भगोने के किनारे पर जो सौंफ का फाइबर झाग में इकट्ठा हो रहा है उसे चम्मच से निकाल दें।

चाश्नी के गाढ़ा होते ही चैक करें शरबत की गाढ़ी Consensives आते ही गैस की फ्लेम को बंद कर दें। अब हमारा सौंफ का शरबत बनकर तैयार है।

शरबत को सर्व करने के लिए एक गिलास में दो बड़े चम्मच सौंफ का शरबत डालें। और ऊपर से ठंडा पानी और बर्फ के टुकड़े डाल दें। ठंडा-ठंडा सौंफ का शरबत बनकर तैयार है। ये शरबत हमारी बॉडी को ठंडक देने के साथ-साथ पाचन क्रिया को भी दुरूस्त करता है।

गर्मियों के मौसम में अगर बच्चों को नकसीर आने लगे तब इसे पिलाएं। तो दो दिन में नाक से खून आना बंद हो जाता है इस सौंफ के ठंडे शरबत को किसी बोतल में भरकर फ्रिज में रख दें। इस शरबत को आप दो से तीन महीने तक रखकर इस्तेमाल कर सकते है।

इस saunf ke sharbat में आप निम्बू या नमक ना डालें क्योकि सौफ का स्वाद लाईट होता है। अगर आप इसमें निम्बू या नमक डाल देंगे तो आपका शर्बत शिकंगी की तरह लगने लगेगा। और फिर इसमें आपको सौंफ का स्वाद भी नहीं आएगा।

शेयर करें: