जानिए क्या है ‘शादी’ करने की सही व परफेक्ट उम्र

लड़का व लड़की की पढ़ाई खत्म हुई नहीं कि घर वाले शादी के पीछे पड़ जाते हैं और अगर अच्छी-खासी जॉब भी लग जाए तो हर किसी का बस एक ही सवाल, “और भाई शादी कब रहे हो”?

आखिर शादी किस उम्र में की जानी चाहिए? ये एक बहुत बड़ा सवाल है शादी की परफेक्ट उम्र को लेकर कई तरह के अध्ययन और सर्वे भी किए जाते रहते हैं।

आइए जानने की कोशिश करते हैं कि आखिर शादी की सही उम्र क्या है?

शादी के लिए तैयार होना

ulha-dulhan

आज के ज़माने में लड़कियां अपने करियर को लेकर बहुत गंभीर रहती हैं। लेकिन शादी के बाद परिवार व घर संभालना भी लड़की की ही जिम्मेदारी होती है ऐसी स्थिति में किसी भी महिला के लिए इन दोनों जिम्मेदारियों को निभाने के लिए शारीरिक और मानसिक रूप से तैयार होना बहुत ज्यादा आवश्यक होता है।

पसंद-नापसंद की समझ आना

Couple

शादी की उम्र तक आते-आते इंसान को इतना तैयार हो जाना चाहिए कि वो समझ सके कि वे अपने पार्टनर से क्या चाहते हैं और क्या नहीं इस तरह से सही पार्टनर का चुनाव कर सकते हैं और इससे भविष्य में रिश्ते टूटने का खतरा भी काफी कम हो जाता है।

शारीरिक रूप से तैयार होना भी है बहुत जरुरी

varmala

शादी के कुछ महीनों बाद से ही ‘खुशखबरी’ की उम्मीद की जानी शुरू हो जाती है पार्टनर के लिए इस स्टेज के लिए तैयार होना भी बहुत जरुरी होता है और साथ ही इस दौरान कई शारीरिक बदलाव भी आते हैं।

हो खुद का बसेरा

griha pravesh

अगर लड़का शादी के दौरान सेटल हो तो बात और भी बेहतर हो जाती है 23-24 की उम्र में भी अगर नौकरी लग जाए तो 29 तक आते-आते लड़का अपना घर खरीद सकता है और अपनी गृहस्थी को अपने दम पर बसा सकता है।

शादी की सही उम्र है 29 साल

marriage

अगर 29 की उम्र में शादी करते हैं तो फिर आपके ऐसे कई दोस्त होते हैं जो कि पहले ही शादी कर चुके होते हैं और आप उनकी गलतियों से सीखते हैं और आप अपने रिश्ते में ऐसी कोई भी गलतियां करने से बचते हैं इसलिए शादी की सही उम्र 29 साल है।

करियर बनाने के लिए मिलता है पर्याप्त समय

Career

सिर्फ नौकरी लगना ही सबकुछ नहीं होता है असली संघर्ष तो नौकरी लगने के बाद ही शुरू होता है। नौकरी के दौरान भी कई पड़ाव आते हैं 4 से 5 साल का अनुभव हो जाने के बाद ही आप खुद को सेटल कह सकते हैं इसलिए अगर 23-24 की उम्र में नौकरी लग रही है तो अगले 4 से 5 साल करियर पर फोकस करना बहुत जरूरी होता है।

खुद को समझने लगते हैं

Warmala

आप अपने पार्टनर से क्या चाहते हैं, इसके साथ ही यह समझना भी जरुरी है कि आप खुद से और अपनी जिंदगी से क्या-क्या चाहते हैं। उम्र के इस पड़ाव पर पहुंचकर आप अपनी प्राथमिकताओं को अच्छी तरह से समझने लगते हैं और उसी के हिसाब से अपने पार्टनर का चुनाव भी करते हैं।

ऐज गैप की समस्या होगी कम

wedding dulhan

अगर इस उम्र के दौरान शादी की जाएगी तो फिर लड़का और लड़की की उम्र में ज्यादा अंतर नहीं होगा दोनों ही समझदार और मैच्योर होंगे, और इससे उनके बीच झगड़े भी न के बराबर होंगे।

शेयर करें:

Leave a Comment