परवल की इतनी शानदार सब्ज़ी आपने आज तक नहीं खाई होगी

पटोल रस (परवल) ओडिशा के फेमस खानों में से एक है इसे बनाने में थोड़ी सी मेहनत तो ज़रूर लगती है लेकिन इसे बनाने के बाद में जब आप इसका स्वाद चखेंगे तो फिर आपको लगेगा कि आपकी मेहनत बेकार नहीं हुई बल्कि बहुत कामयाब हुई ओडिशा व बंगाल में परवल को पटोल कहा जाता है।

आवश्यक सामग्री – necessary ingredients – parwal ki sabzi recipe

  • परवल = 12 अदद
  • टोमैटो प्यूरी = एक कप
  • तेजपत्ता = दो अदद
  • काजू = बीस अदद
  • लाल मिर्च पाउडर = एक चोथाई छोटा चम्मच
  • हल्दी पाउडर = आधा छोटा चम्मच
  • ज़ीरा = 1/4 छोटा चम्मच
  • नमक = स्वादानुसार
  • तेल = तलने के लिए

 भरावन के लिए सामग्री

  • पनीर = डेढ़ कप
  • किशमिश = डेढ़ चम्मच
  • काली मिर्च पाउडर = एक छोटा चम्मच
  • हरा धनिया = दो छोटे चम्मच बारीक कटी हुआ
  • दो हरी मिर्च = दो अदद, बारीक कटीहुई
  • नमक = स्वादनुसार

 ग्रेवी बनाने के लिए

  • एक छोटा चम्मच अदरक बारीक कटा
  • नारियल = आधा कप कद्दूकस किया हुआ
  • खसखस = दो चम्मच
  • इलायची = तीन अदद
  • दालचीनी = एक छोटा टुकड़ा
  • लौंग = चार अदद
  • हरी मिर्च = दो अदद, बारीक कटी हुई
  • हरा धनिया = बारीक कटा हुआ

विधि – how to make parwal ki sabzi

सबसे पहले आप काजू को आधा घंटा पानी में भिगो लें और फिर ग्राइंडर मशीन में डालकर इसका पेस्ट बान लें। फिर इसके बाद मसालों का पेस्ट बनाकर तैयार करें। इसके लिए सारी सामग्री अदरक, हरी मिर्च, लौंग, इलायची, दालचीनी, नारियल और खसखस को एक जार में डालें और बारीक़ पेस्ट बना लें।

इसके बाद आप चाकू की मदद से परवल को हल्का सा छील कर परवल को पानी से धो लें। अब चाकू की मदद से परवल के दोनों सिरे काट लें और फिर इन्हें गोला आकार में काट लें और बीज को निकाल कर फेक दें।

इसी तरीके से बाकि के सारे परवल को काट कर उसके बीज निकाल लें। जब परवल कट जाए तो फिर नमक छिड़ककर हाथों से मिला लें। और पांच मिनट तक ऐसे ही रखा रहने दें।

इसके बाद आप एक कड़ाही में दो बड़े चम्मच तेल डालकर स्लो गैस पर गर्म करने के लिए रख दें। जब तेल अच्छे से गर्म हो जाए तो फिर इसमें परवल डाल दें। और दोनों तरफ से सुनहरा होने तक पकने दें।

जब यह अच्छे से पक जाए तो फिर गैस को बंद कर दें। और परवल को एक प्लेट में निकाल लें।

 अब भरावन तैयार करे

इसके लिए आप एक बाउल में पनीर, किशमिश, काली मिर्च पाउडर, हरा धनिया और नमक डालकर अच्छे से मिला लें।
इसके बाद आप इस भरावन  से एक-एक कर सारे परवल को हाथों से या फिर चम्मच से भर दें। (जब आप भरावन को परवल में डालें तो फिर हाथों से मजबूती से इसे अंदर तक दबा दें ताकि इसकी ग्रेवी बनाने पर भरावन निकल कर परवल से बाहर ना आजाए)

ग्रेवी बनाने के लिए उसी कड़ाही में बाकि के बचे हुए तेल को गर्म कर लें। जब तेल गर्म हो जाए तो फिर इसमें तेजपत्ती और ज़ीरा डालकर चटकने तक भूनें।

और फिर इसमें मसालों का पेस्ट डालें। और मीडियम गैस पर पांच मिनट तक भूनें (इसे बीच-बीच में बराबर चलाते हुए पकाएं जिससे कि मसाला ना जले) तय समय के बाद कड़ाही में लाल मिर्च पावडर, हल्दी पाउडर और नमक डालकर चालते हुए भूनें। इसके बाद इसमें टोमैटो प्यूरी व काजू पेस्ट डालकर मसालों के साथ खूब अच्छी तरह से मिक्स कर लें।

जब इसमें उबाल आने लगे तो फिर इसमें ग्रेवी के लिए एक से डेढ़ कप पानी डालकर एक उबाल आने तक पकने दें। जब इसमें एक उबाल आ जाए तो फिर परवल डाल दें। (इस बात का ध्यान रखें कि परवल को बहुत ही सावधानी से रखें। ताकी इसका भरावन कड़ाही में न बिखरे)

अब कड़ाही को ढक्कन से ढक दें और पांच से दस मिनट तक धीमी गैस पर पकने दें जब यह तैयार हो जाए तो फिर गैस को बंद कर दें। और सब्ज़ी को एक सर्विंग बाउल में निकाल लें।

गरमागर्म पटोल रस को रोटी के साथ मज़े ले-लेकर खाएं। और महमानों को भी खिलाएं ये सब्ज़ी इतनी स्वादिष्ट होती है की इसका ज़ायका आप कभी नहीं भूलेंगे।

हमारी रेसिपीज आपको कैसी लगती है हमे कमेन्ट करके बताए और हमारे पेज को लाइक करे ताकि हमारी हर रेसिपी सबसे पहले आप तक पुहचे।

शेयर करें:

Leave a Comment