सेहत से करते है प्यार तो फौरन इन 4 चीजों को अपनी किचन से निकाल दें

Things to Avoid in The Kitchen दोस्तों हमारी किचन में कुछ ऐसी चीजें मौजूद है जो हमारी सेहत के लिए बहुत ही नुकसानदायक होती हैं। जितना भी जल्दी हो सके इनका इस्तेमाल करना बंद कर दें। यह आपकी सेहत के लिए बहुत ही अच्छा रहेगा।

1. प्लास्टिक के बर्तन

plastic ke bartanचाहे आपकी रसोई में प्लास्टिक के डिब्बे हो नमक दानी हो या फिर प्लास्टिक की वाटर बोतल हो इन्हें अपनी किचन से तुरंत बाहर निकाल दें।

यह बात तो सभी लोग जानते हैं कि प्लास्टिक एक ऐसा मैटेरियल है जिसको कभी नष्ट नहीं किया जा सकता। इसीलिए यह हमारी सेहत के लिए बल्की हमारी एनवायरमेंट के लिए भी हानिकारक है। प्लास्टिक में कई तरह के केमिकल होते हैं जो हमारे खाने में मिलकर हमें नुकसान पहुंचाते हैं।

इन Chemicals की वजह से ब्रेस्ट कैंसर या Low sperm जैसी समस्या भी हो सकती है जो भी हार्ड प्लास्टिक हम इस्तेमाल करते हैं उसमें BPA नाम का केमिकल होता है जो हमारी बॉडी में जाते ही हमारी बॉडी में हार्मोनल इन बैलेंस किरेड करता है।

जब भी हम किसी प्लास्टिक के डिब्बे को गर्म करते है तो वह और ज्यादा कैमिकल रिलीज़ करता है और वही कैमिकल हमे नुकसान पहुंचाता है। कई बार ऑफिस में जब बाहर से चाय मंगाई जाती है तो वे प्लास्टिक की थैली में आती है। उसके साथ जो गिलास आते हैं वह भी प्लास्टिक के ही होते हैं जो किसी भी तरह हमारी सेहत के लिए अच्छा नहीं होता है। उसी तरह से जब आप बाहर से सांभर या छोले मंगाते है तो वह प्लास्टिक मैं पैक करके दिया जाता है। अगर आप रेस्टोरेंट्स से कुछ भी ओडर करते हैं तो भी ज्यादातर प्लास्टिक के डिब्बों में ही आता है। जो  Long time में सेहत का नुकसान करता है।

कोई भी गर्म चीज है जो प्लास्टिक में डाली जाती है वह हमारे बॉडी के लिए बहुत ही ज्यादा हार्मफुल बन जाती है। इसीलिए जितना भी हो सके इन चीजों से बचें अपने खाने के लिए कांच के बर्तन या फिर स्टील के बर्तनों का इस्तेमाल करें। अगर आप प्लास्टिक की प्लेट में खाना खाते हैं तो उन्हें भी अपने घर से निकाल दे। पानी की बोतल भी प्लास्टिक की नहीं होनी चाहिए इसकी जगह स्टील, कांच या तांबे की बोतल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसी तरह से प्लास्टिक के पॉलीबैग की जगह कपड़े का बैग लेना शुरू करें।

2. माइक्रोवेव

microwave ovenमाइक्रोवेव ने हमारी लाइफ तो आसान बना दी लेकिन माइक्रोवेव के फायदे से नुकसान कई ज्यादा बड़े हैं। इसीलिए इसको भी अपने किचन से बाहर निकालना ही बेहतर है। आप में से कितने लोग होंगे जो माइक्रोवेव में कुकिंग करते हैं या फिर खाने को गर्म करते हैं या बार-बार प्रिहीत करते हैं। लेकिन अगर आप इसके नुकसान जान जाएंगे तो शायद आज के बाद इस्तेमाल नहीं करेंगे।

माइक्रोवेव में जब कुकिंग होती है वह इलेक्ट्रिसिटी को रेडिएशन में कन्वर्ट करके होती है। जिसकी वजह से हीट प्रड्यूस होती है और खाना पकाया जाता है। माइक्रोवेव के इस्तेमाल से सबसे पहले तो हमारे खाने के सारे न्यूट्रॉनस खत्म हो जाते हैं। जब आप हाई टेंपरेचर पर माइक्रोवेव को इस्तेमाल करते हैं तो यह आपके न्यूट्रॉनस को कैंसर पैदा करने वाले तत्वों में बदल देता है।

माइक्रोवेव में बनाया या फिर गर्म क्या हुआ खाना खाने से शरीर में रेड ब्लड सेल्स की मात्रा कम हो जाती है और वाइट ब्लड सेल्स की मात्रा बढ़ जाती है। जिसकी वजह से कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ जाता है। इतना ही नहीं माइक्रोवेव में खाना बनाने से खाने में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट तत्व खत्म हो जाते हैं। जिसकी वजह से इम्यूनिटी भी खो जाती है। माइक्रोवेव में कुकिंग इन हेवन होती है यानी कि खाने का कुछ हिस्सा पक जाता है और कुछ कच्चा रह जाता है जिसे खाने से डाइजेशन हो सकता है। साथ ही इसमें खाना बनाने से हमारा खाना जल्दी सूख जाता है। क्योंकि ये खाने का सारा नेचुरल मोस्चर अब्ज़ोब कर लेता है। अगली बार सब्जी बनाने या गर्म करने के लिए गैस का इस्तेमाल करें माइक्रोवेव का नहीं।

3. नॉन स्टिक बर्तन

non stick utensilsनॉन स्टिक बर्तन हमें देखने में बहुत ही सुंदर लगते हैं। कभी कभी इस्तेमाल किया जाए तो इनके ज्यादा नुकसान नहीं है। लेकिन अगर आप इसको रोजाना इस्तेमाल करते हैं तो यह ध्यान देने वाली बात है। नॉन स्टिक बर्तनों का जो कुकिंग सरफेस होता है उसमें PTAF और PFS होते हैं जो बहुत ही ज्यादा टॉक्सिक होते हैं इन कॉम्पाउस में ऐसे-ऐसे केमिकल होते हैं जिससे इन बर्तनो का स्ल्फेस इतना स्मूद हो जाता है और खाना चिपकता नहीं है इसी वजह से हम इन बर्तनों का इस्तेमाल करते है।

जब किसी नॉन स्टिक बर्तन को हम गर्म करते हैं तो बर्तन टॉक्सिक हो जाते हैं और हमारी सेहत को कई तरह के नुकसान पहुंचा सकते हैं। जैसे कि किसी ऑर्गन का डैमेज हो जाना। लेडीस में इनफिनिटी इत्यादि इसका सबसे आसान उपाय है कि आपको कुकिंग के लिए आयरन कढ़ाई का इस्तेमाल करें या फिर स्टील के बर्तन भी ले सकते हैं।

स्टील में खाना बनाते वक्त बर्तन में चिपकेगा जरूर लेकिन आपको कोई नुकसान नहीं देगा आप अपनी समझदारी से इस्तेमाल हर चीज का करें लेकिन जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल ना करें नहीं तो ये आपको नुकसान भी दे सकता है।

4. एल्युमिनियम फॉयल पेपर

foil peparएल्युमिनियम फॉयल पेपर जिसमें हम रोटी को रेप करके रखते हैं या फिर खाने को रेप करके माइक्रोवेव में बनाया जाता है। जब हम फॉयल पेपर में कुछ भी गरम खाना पैक करते हैं तो वह खाना जहरीला बन जाता है। जब हम फॉयल पेपर से खाना बाहर निकालते हैं तो उसमें एल्युमिनियम कांटेक्ट काफी ज्यादा बढ़ जाता है। जो हमारे शरीर के लिए हेल्दी नहीं होता सबसे पहले तो ऐसा जहरीला खाना हमारे ब्रेन पर अटैक करता है दूसरा यह हमारे रेस्पिरेटरी सिस्टम को भी अटैक करता है। इससे खांसी या लम्स की बीमारियां हो सकती हैं। इतना ही नहीं इस से लीवर खराब होने का खतरा भी हो सकता है।

अगर आप भी फॉयल पेपर का इस्तेमाल करते हैं तो फॉयल पेपर को अपनी रसोई से तुरंत बाहर निकाल सके तो आपकी सेहत के लिए बहुत ही अच्छा है और अगर आपको फॉयल पेपर अपनी किचन से निकालना मुश्किल लगता है तो आप इसका जितना भी हो सके कम से कम इस्तेमाल करें। इसकी जगह आप कुछ हेल्दी इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे की रोटी पेक करने के लिए आप खानें के रुमाल में रोटी रेप करके स्टील के डिब्बे में रख सकते हैं या फिर दूध की थैली को धोकर व सुखाकर रख लें और उसमें रोटी को पेक करें।

शेयर करें:

3 thoughts on “सेहत से करते है प्यार तो फौरन इन 4 चीजों को अपनी किचन से निकाल दें”

Leave a Comment