शास्त्रों के अनुसार खाना खाते समय भूल से भी ना करें ये काम

दोस्तों क्या आपको पता है कि happy Life के लिए सबसे ज़्यादा जरूरी है। बैलेंस डाइट सभी लोग यही कोशिश करते हैं कि वो कुछ ऐसा खाएं जिससे शरीर को फायदा पहुंचे। अधिकतर लोग अपने खान-पान को लेकर काफी सावधानी बरतते हैं।

लेकिन अगर सभी लोग इस सावधानी के साथ-साथ शास्त्रों में कही हुई इन बातों को भी मान लें। तो फिर कभी भी उन्हें कोई नुकसान नहीं होगा। जिस तरह से पूजा-पाठ करने की कुछ मुद्राएं व दिशा निर्धारित की गई हैं।

बिलकुल उसी तरह से भोजन करने के लिए भी दिशा का बहुत महत्व होता है। आज हम आपको बताते है कि खाना खाने के लिए आपको किस दिशा में बैठन चाहिए और किस तरह से खाना खाएं व खाना पकाने से पहले क्या खास काम कर लें।

हमेशा ही पूर्व और उत्तर दिशा की तरफ मुंह करके भोजन करना चहिये। इससे हमारी बॉडी को ताकत मिलती है कभी भूलकर भी पश्चिम व दक्षिण दिशा की तरफ मुंह करके भोजन करने ना बैठ जाएं। दक्षिण दिशा की और मुंह करके खाना खाना अशुभ माना जाता है। और पश्चिम दिशा की तरफ मुंह करके भोजन करने से बीमारियां हो जाती हैं।

इस बात का खास ख्याल रखें। कि खाना बनाने का बर्तन हमेशा साफ-सुथरा होना चाहिए खाना बनाने की जगह साफ होनी चाहिए टूटे-फूटे बर्तनों में भूल से भी ना तो खाना बनाना चाहिए और न ही ऐसे बर्तनों में खाना चाहिए।

खाने को हमेशा बैठकर ही खाएं कभी भी खड़े होकर भोजन नहीं करना चाहिए। बैठकर खाने से इनडाइजेशन, कॉन्स्टिपेशन और एसिडिटी जैसी सभी समस्याओं से बचा जा सकता है।

कभी भी खाने को हाथ में लेकर या बिस्तर पर न खाएं। खाना हमेशा जमीन पर बैठकर और प्लेट को लकड़ी की टेबल पर रखकर ही खाना चाहिए।

जब आप खाना पका रहे हो तो उस टाइम किसी की बुराई नहीं करनी चाहिए और न ही किसी के बारे में कुछ बुरा सोचना चाहिए इससे खाने के स्वाद पर काफी फर्क पड़ता है।

हमेशा शांत मन से ही खाना पकाना चाहिए इससे खाना बहुत टेस्टी बनता है। और घर में कभी भी अनाज की कोई कमी नहीं रहती है।
सर्व किये हुए खाने का कभी भूल से भी अपमान नहीं करना चाहिए। खाना खाने के बाद दस्तरखान फ़ौरन उठाकर रखना चाहिए दस्तरखान को ऐसे ही छोड़ने से घर में नेस्ती आती है

बचे हुए खाने को फेकने के बजाएं कुत्ते, बिल्ली या पक्षियों को खिलाएं फेक कर खाने का अनादर ना करें

खाना खाते समय हमारे दिल में किसी भी मनुष्य के प्रति जलन का भाव नहीं होना चाहिए। और न ही डरते हुए खाना-खाना चाहिए। अगर हम किसी बात पर बहुत ज़्यादा गुस्सा हैं तो भी उस समय भोजन नहीं करना चाहिए।

इन भावों के साथ खाया हुआ खाना न तो अच्छे से पचता है। और ना ही हमारे स्वास्थ के लिए लाभदायक होता है।

शेयर करें:

Leave a Comment