बिना दही और मठ्ठे के कढ़ी में खट्टापन लाने के बेस्ट उपाय – Cooking Tips

भादों के महीने में में दही नहीं खाया जाता है। भादों में मास और दही से परहेज रखना चाहिए क्योंकि इस महीने में दही स्वास्थ के लिए हानिकारक होती है। और अगर ऐसे में आपका मन कढ़ी खाने का है। और इसमें खटास भी चाहिए तो फिर आप दही के अलावा ये चीजें डाल सकते हैं।

टिप्‍स

नींबू वाली कढ़ी

दही वाली कढ़ी का सबसे बढ़िया Supplement है नींबू के रस वाली कढ़ी इसे बनाने के लिए पूरा प्रोसेस बिलकुल वैसी ही है। जैसी की हम कढ़ी बनाते है, बस करना ये है कि इसमें मट्ठा की जगह पर नींबू के रस वाला पानी डाल दें। बस आपको इस बात का ध्यान रखना है। कि नींबू के रस की मात्रा बिलकुल सही होने चाहिए नहीं तो फिर आपकी तैयार कढ़ी ज्यादा खट्टी हो सकती है।

टमाटर वाली कढ़ी

आप टमाटर से भी कढ़ी बना सकते है। ये कढ़ी बनाना बहुत ही आसान है आप इसमें दही की जगह पर टमाटर डालकर खट्टापन ला सकते हैं। बस करना ये है कि इसमें आप टमाटर को उबालकर इसकी प्यूरी बनाकर इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर आप चाहें तो टमाटर को तड़के के साथ पकाकर भी बेसन में डाल सकते हैं।

इमली वाली कढ़ी

दही या फिर मट्ठा वाली कढ़ी से अलग आप इमली के पानी वाली कढ़ी भी बना सकती हैं। एक कप गुनगुने पानी में इमली का गूदा डालकर आधे घंटे के लिए रख दें। और फिर मसल कर पानी छान लें बेसन में तड़का लगाने के बाद में इस पानी को डालकर कढ़ी बनालें। अगर आप चाहें तो इमली के पत्तों का इस्तेमाल भी कढ़ी में खट्टापन लाने के लिए कर सकती हैं।

अमचूर वाली कढ़ी

अमचूर से सब्जियों और दालों में खट्टापन लाया जाता है। भादों में कढ़ी खाना वर्जित माना जाता है क्योंकि यह स्वास्थ के लिहाज से सही नहीं होती है। अगर आपकी रसोई में नींबू, आम या फिर टमाटर नहीं है तो आप अमचूर से भी कढ़ी में खट्टापन ला सकती है।

आम की कढ़ी

कच्चे आम को धोकर छील लें और फिर छोटे टुकड़ों में काट लें। और फिर इसे एक कप पानी के साथ में उबाल लें। फिर इसे ठंडा करके इसी पानी के साथ में अच्छे से मसल लें फिर इस पानी को छानकर बेसन में डालकर आप कढ़ी बना सकती हैं।

विनेगर से बनाएं खट्टी कढ़ी

अगर आपकी रसोई में उपरोक्त कोई भी सामग्री नहीं है। और आपको कढ़ी खाने की बहुत ज़्यादा इच्छा हो रही है। तो आप फ्रिज में रखे हुए विनेगर से भी कढ़ी में खट्टापन ला सकते हैं। बस इस बात का ध्यान रखें कि इसमें कोई भी फ्लेवर्ड विनेगर न डालकर के नॉर्मल वाला ही इस्तेमाल करें।

अनार दाने की कढ़ी

आलू के पराठों का स्वाद बढ़ाने के लिए हम अनार दाने का प्रयोग करते ही है। पर अगर आपका कढ़ी खाने का बहुत ज़्यादा मन है। तो फिर आप एक कटोरी अनार के दानों को एक कप पानी के साथ उबाल लें। और फिर इसे ठंडा करके छान लें बेसन में तड़का लगाने के बाद इसे डाल दें।

शेयर करें:

Leave a Comment