कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के आम लक्षण और कोलेस्ट्रॉल को कम करने के घरेलु नुस्खे

हेलो दोस्तों आज मैं आपको एक ऐसा घरेलु नुस्खा बताउंगी। जिससे आपका बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रॉल कम हो जायेंगा और आपकी नसे ब्लॉक हैं। वो भी खुल जाएँगी। क्यूंकि हाई ब्लड कोलेस्ट्रॉल सभी मनुष्यों को तेज़ी से प्रभावित कर रहा हैं। लेकिन इस बढ़ते हुए कोलेस्ट्रॉल से कुछ लोग वाकिफ हैं और कुछ नहीं। कुछ को कोलेस्ट्रॉल के लक्षणों के बारे में पता होता हैं और कुछ इस के लक्षणों को पहचान नहीं पाते हैं। जिससे हमारे शरीर में धीरे-धीरे ये लक्षण बढ़ते जाते हैं और हम इनको लगतार नज़र अंदाज़ करते रहते है। जिसकी वजह से हम बहुत सारी बीमारियों का शिकार हो जाते हैं।

आप इस पोस्ट में ऐसे आम लक्षण के बारे में जानेगे। जिनको पहचानकर आप अपने बढ़ते हुए कोलेस्ट्रॉल के बारे में पता लगा सकते हैं और फिर कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए घरेलु उपाय कर सकते हैं। जिससे आपका कोलेस्ट्रॉल बिना किसी दवाई के कण्ट्रोल में आ जाएंगा।

कोलेस्ट्रॉल के लक्षणों को जानने से पहले आप ये जाने की कोलेस्ट्रॉल होता क्या हैं और हमारी बॉडी में इसका क्या महत्व हैं और ये क्या काम करता हैं? कोलेस्ट्रॉल मोम की तरह चिकना पीले रंग का पदार्थ होता हैं। जिस तरह से खून (ब्लड) का होना हमारी बॉडी के लिए इम्पोर्टेन्ट हैं। उसी तरह से कोलेस्ट्रॉल का होना भी उतना ही जरूरी हैं। क्यूंकि कोलेस्ट्रॉल हमारी सेल्स को हेल्दी और ठीक रखने का काम करता हैं। कोलेस्ट्रॉल दो टाइप का होता हैं।

एक होता हैं ल. डी. ल. कोलेस्ट्रॉल (LDL Cholesterol) जिसको लो डेंसिटी लिपोप्रोटीन कहते हैं। ये एक बुरा कोलेस्ट्रॉल होता हैं। जो हमारे लिए हार्मफुल होता हैं और दूसरा होता हैं। एच. डी. ल. कोलेस्ट्रॉल (HDL Cholesterol) जिसको हाई डेंसिटी लिपोप्रोटीन कहते है। ये एक अच्छा कोलेस्ट्रॉल होता हैं। जो हमारे लिए बहुत यूज़फुल होता हैं।

अगर हमारे शरीर में LDLकोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक हो जाती हैं। तो हमे हार्ट अटैक और स्टॉक आ जाता हैं। इन सब की वजह हमारी बॉडी में बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रॉल ही हैं। जिसके लक्षण को हम लगातार नज़र अंदाज़ करते हैं और फिर इन बीमारियों का शिकार हो जाते हैं।

कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना युवाओं में ज़्यादा देखा जा रहा हैं और इसके बढ़ने की दो मुख्य वजह हैं। एक तो हमारा लाइफ स्टाइल और दूसरा हैं हमारा खान-पान हमारी लाइफ स्टाइल में किसी न किसी तरह का वर्क आउट जरूर शामिल होना चाहिए। हमे अपनी बॉडी को खाली समय में ज़्यादा से ज़्यादा आराम नहीं देना चाहिए। कुछ न कुछ फिज़िकल एक्टिविटी हमे जरूर करना चाहिए। जिससे हम हेल्दी रह सके।

हमे अपने खाने का भी ध्यान रखना चाहिए 70% कोलेस्ट्रॉल लीवर खुद बनाता हैं और बाकी का बचा हुआ 30% कोलेस्ट्रॉल हमारे खाने से बनता हैं। कोलेस्ट्रॉल से बाइल एसिड बनता हैं। जो हमारा भोजन पचाने में सहायता करता हैं। अगर हम ऐसी चीज़ों का सेवन करते हैं। जिसमे LDL कोलेस्ट्रॉल अधिक मात्रा में होता हैं। तो हमारा कोलेस्ट्रॉल तेज़ी से बढ़ता हैं।

कोलेस्ट्रॉल की ज़्यादा मात्रा नॉनवेज़, डीप फ्राइड स्नैक्स, बटर, मैदा, ज़्यादा मीठी चीज़े, केक, पेस्ट्री, शराब, सिगरेट और वेजिटेबल ऑइल इन सब में पाई जाती हैं और सबसे ज़्यादा तले हुए चिकन में कोलेस्ट्रॉल पाया जाता हैं और हम इन सब का सेवन करते हैं। तो हमारे शरीर में LDL केलेस्ट्रोल बढ़ जाता हैं। फिर इसके बढ़ने से हमारी बॉडी में ब्लड (खून) का बहाव ठीक प्रकार से नहीं हो पाता हैं।

क्यूंकि कोलेस्ट्रॉल हमारी धमनियों (आर्टरीज़) में जमता हैं। जिसकी वजह से धमनी सिकुड़ने लगती हैं। जिसकी वजह से खून ठीक तरह से हमारे अंगो तक नहीं पहुँच पाता हैं। जिससे नसे ब्लॉक हो जाती हैं। सबसे ज़्यादा कोलेस्ट्रॉल हमारे दिमाग में खूब पहुँचाने वाली नसे जिसे केरोटेड आर्टरीज़ कहते हैं। इन नसों में जमता हैं। जिसके कारण ब्रेन स्टॉक आता है।

दिमाग के बाद कोलेस्ट्रॉल दिल तक खून पहुँचाने वाली कोरेनरी आर्टरीज़ में जमता हैं। जिसकी वजह से हार्ट अटैक आता हैं। कुछ ऐसे लक्षण हैं। जिनसे ये पता लगाया जा सकता हैं। कि हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ रहा हैं। अगर आपके हाथ-पैर सुन्न हो जाते हैं, या झनझनाहट होती हैं। ये बढ़ते हुए कोलेस्ट्रॉल की निशानी हैं। क्यूंकि कोलेस्ट्रॉल धमनी में फैट जमा कर देता हैं।

जिसकी वजह से हमारी नसों में खून ठीक तरह से नहीं पहुँचता हैं। ख़ास-तौर पर पैरो में जिसकी वजह से पैर सुन्न हो जाते हैं। पैरो में दर्द रहता हैं और पैरो में चींटी काटने जैसे महसूस होता हैं। इसके अलावा अगर आपके हाथ पैर काफी समय तक ठंडे रहते हैं। तो ये भी बेड कोलेस्ट्रॉल की वजह से ही हैं।

बेड कोलेस्ट्रॉल ब्लड प्रेशर को भी प्रभावित करता हैं। यदि आपका ब्लड प्रेशर एकदम नार्मल रहता हैं। लेकिन कुछ टाइम से आपको बढ़े हुए ब्लड प्रेशर की प्रॉब्लम ही रही हैं। तो आपको तुरंत ही डॉक्टर से जांच करा लेनी चाहिए। क्यूंकि आपकी ब्लड प्रेशर की बढ़ी हुई परेशानी आपको ये इशारा करती हैं, कि आपका कोलेस्ट्रॉल बढ़ रहा हैं। इसलिए इसको नज़र अंदाज़ ना करे और डॉक्टर के पास जाकर टेस्ट कराए।

अगर आप थोड़ा सा काम करने में बहुत थकान महसूस करते हैं। काम करने में आपको आलस आता हैं सुस्ती आने लगती हैं। तो आपको अपने खून की जांच करा लेनी चाहिए। क्यूंकि कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की वजह से हमारा शरीर पूरी तरह से भोजन से पौषक तत्वों को ग्रहण नहीं कर पाता हैं। जिसकी वजह से हमे थोड़े से काम में थकान होने लगती हैं।

हमारे दिल में खून पहुंचाने वाली नसों में कोलेस्ट्रॉल फैट जमा कर देता हैं। जिसकी वजह से ब्लड फ्लो कम हो जाता हैं और हमे थकान ज़्यादा और पसीना भी ज़्यादा आने लगता हैं। बुरे कोलेस्ट्रॉल की वजह से आपका वज़न भी तेज़ी से बढ़ता हैं। क्यूंकि अच्छा कोलेस्ट्रॉल जो होता हैं। वो एक्स्ट्रा फैट को बर्न करता हैं। जिससे हमारा वज़न कंट्रोल में रहता हैं और हमे फिट रखता हैं।

लेकिन आपका वज़न तेज़ी से बढ़ रहा हैं। तब आपके शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ रहा हैं। इसकी वजह से हम दिमाग और दिल के बीमार हो सकते हैं। अगर आपके सिर के आधे हिस्से या फिर सिर के पीछे वाले हिस्से में अचानक दर्द होने लगता हैं। तो ये भी कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की वजह से होता हैं। क्यूंकि दिमाग में खून लेकर जाने वाली जो नसे होती हैं। उनमे कोलेस्ट्रॉल जाकर खून का बहाव कम कर देता हैं। जिसकी वजह से सिर दर्द और चक्कर, थकान जैसी परेशानी होती हैं।

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की वजह से हमारा पाचन भी सही से नहीं होता हैं। लीवर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ जाने की वजह से हमारा मेटाबोलिज़म वीक (कमज़ोर) हो जाता हैं। जिसकी वजह से अगर आप बाहर का खाना या फिर ज़्यादा ऑयली खाना या स्नैक्स खा लेते हैं। तो हमे अपच, पेट में गैस का बनना, पेट का फूलना जैसी समस्या हो जाती हैं और हमारा पाचन सही से नही हो पाता हैं।

इसके अलावा सांस का फूलना, सीने में दर्द का होना और सांसो से बदबू आना। ये भी बेड केलेस्ट्रोल की वजह से हैं। इन सब लक्षणों से आप अपने अन्दर कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने को पहचान सकते हैं और फिर घरेलू तरीको से ही अपने इस बेड केलेस्ट्रोल को कंट्रोल कर सकते हैं और इन सब बीमारियों से आराम पा सकते हैं।

बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल में आप धनिये के बीज का सेवन करे रात को एक गिलास पानी में एक चम्मच धनिये के बीज डालकर पानी को ढककर रख ले और फिर सुबह को इस पानी को हल्का गर्म करके छानकर पी ले। आपको इस पानी को एक सांस में नहीं पीना हैं। बल्कि इस धनिये के पानी को सिप-सिप करके पीना हैं और सुबह खाली पेट और एक हफ्ते में चार बार पीना हैं।

अगर आप हफ्ते में चार बार इस धनिये के पानी को पिएंगे, तो आपका बेड कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल में आ जाएंगा और आपकी नसों में ब्लड फ्लो भी अच्छे से होगा। गाढ़ा खून भी पतला हो जाएंगा। ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल में आ जाएंगा। इस पानी से आपका पाचन भी ठीक हो जाएंगा और जिसकी वजह से आपके पेट में गैस या कोई और भी पेट से सम्बंधित बिमारी भी खत्म हो जाएँगी।

अगर आप धनिये का पानी नहीं पीना चाहते हैं। तो दूसरा उपाय भी अपना सकते हैं। रात को एक गिलास पानी में आधा चम्मच मेथी दाना डालकर रख ले और सुबह में उठकर इस पानी को पिएं और मेथी दाने को चबा-चबाकर खाएं। आपको इस पानी को एक महीने तक पीना हैं। ये भी वही काम करेगा जो धनिये का पानी करेगा।

इन सब के उपाय को अपनाने से आपका बेड कोलेस्ट्रॉल गुड कोलेस्ट्रॉल में ट्रान्सफर हो जाएंगा। बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल वाले लोग भूलकर भी मीट और चिकन का सेवन ना करे। क्यूंकि इनमे पाएं जाने वाले तत्व आपके कोलेस्ट्रॉल को और बढ़ा सकते हैं। इसके अलावा आपको डेरी प्रोडक्ट से भी दूरी बना लेनी हैं। ज़्यादा फैट वाला दूध आपको अवॉयड करना हैं। पनीर भी नहीं खाना हैं। अगर आप इन तरीको को और नुस्खो को अपनाओगे तो आपका बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल हो जाएंगा।

Image Source: Rudra Home Remedies

Recipe Source: Homemade solutions

5/5 - (2 votes)

Leave a Comment

join us on telegram zayka recipes