अब एड़ियों का दर्द होगा चुटकियों में छूमंतर Heel Pain Remedy

एड़ी (हील) में दर्द उठना काफी आम हैं। कई बार एड़ी में दर्द की वजह हमारी रोज़-मर्रा की ज़िन्दगी में की जाने वाली गलती होती हैं। एड़ी में दर्द पहले तो बड़े बुज़ुर्गों में देखने को मिलता था। लेकिन आज के टाइम में ये एक नॉर्मल सी प्रॉब्लम हो गई हैं। आज आप जानेगे कि हमारे द्वारा की गई वो कौन सी गलतियां हैं। जिसे हमे इस दर्द का सामना करना पड़ता हैं। इसी के साथ आप बिना किसी दवाई के एड़ी के दर्द को आराम देने वाली घरेलु दवाई के बारे में जानेगे।

एड़ी का दर्द बहुत भयंकर होता हैं। जो सहन नहीं होता हैं और इस दर्द की वजह से हमे चलने में भी प्रॉब्लम होती हैं। इस दर्द से छुटकारा पाने के लिए हम महंगी-महंगी दवाई, तेल और ट्यूब वगेराह लेते हैं। लेकिन आज आप बिना खर्चे के एकदम सस्ते में इस एड़ी के दर्द से निजात पा सकेगे। जिसके लिए आपको दवाई भी खाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। जाने एड़ी में दर्द होने का कारण क्या हैं?

एड़ी में दर्द का कारण प्लान्टर फेशिया की वजह से होता हैं। एड़ी के ऊपर मसल्स की एक लेयर होती हैं। जिसको प्लान्टर फेशिया कहते हैं इस प्लान्टर फेशिया के बहुत ज़्यादा टाइट होने की वजह से दर्द होता हैं। या बार-बार स्ट्रेस पड़ने की वजह से इसमें सूजन आ जाती हैं और चलने में दर्द होता हैं।

बहुत सारे ऐसे इंसान हैं जब वो सुबह-सुबह सोकर बिस्तर से उठते हैं और अपना पैर ज़मीन पर रखते हैं। तब तीन से चार स्टेप (कदम) ही रखते हैं, कि एड़ी में दर्द शुरू होने लगता हैं और जैसे-जैसे हम ज़्यादा कदम चलते हैं। वैसे-वैसे ये दर्द कम भी होता जाता हैं। तो ये प्लान्टर फेशिया की वजह से होता हैं। या सिंपल तरीके से आपको बताएं, कि हमारी एड़ी दो चीज़ों से बनी हैं।

एक तो मस्क्युलर लेयर से और दूसरा केल्केनियम से। ये एक हड्डी हैं। कभी-कभी इस हड्डी के बढ़ जाने की वजह से होता हैं। या इसमें सूजन की वजह से भी दर्द हो सकता हैं। लेकिन आपको हड्डी की प्रॉब्लम नहीं हैं। फिर भी एड़ी में दर्द हैं तो फिर ये मसल्स की वजह से हैं।

प्लान्टर फेशिया पैर की नार्मल आर्च होती हैं जो मसल्स से बना हुआ होता हैं। ये टाइट रहता है।

बहुत से ऐसे लोग हैं जिनकी जॉब खड़े होकर काम करने की होती हैं या ज़्यादा देर तक खड़े रहने वालो में ये प्लान्टर फेशिया बहुत ज़्यादा टाइट होता हैं और जब हम सुबह अपना पैर ज़मीन पर रखते हैं। तब ये प्लान्टर फेशिया ज़ोर से खिचता हैं और फिर ये एड़ी की हड्डी को चिपकता हैं। जिसकी वजह से सूजन आती हैं और आपको चलने में दर्द होता हैं और धीरे-धीरे ये दर्द कम हो जाता हैं।

इतना ही नहीं एड़ी में दर्द की वजह हमारे फुटवियर भी हैं। क्यूंकि सभी ऊँची हील वाली सेंडल पहनना पसंद करते हैं। जिससे हमारा पैर लेवल ना होकर ऊँचा-नीचे रहता हैं। जब हम ऊँची हील वाला सेंडल पहनते हैं। तो हमारे शरीर का सारा भार हमारी एड़ी और पैर पर पड़ता हैं। अगर चलने में पैर टेढ़ा-मेढ़ा हो जाएँ, तब ये झटके से ही एड़ी का दर्द पकड़ लेता हैं और ये गलती हूँ सभी करते हैं।

अगर हम बिना चप्पल अनइवन सर्फेस पर चलेगे जो ऊँचा-नीचा होता हैं या वह ज़्यादा देर तक खड़े रहेगे। तब भी हमे एड़ी का दर्द हो सकता हैं। या फिर पेढ़ी पर उपर नीचे करते हैं। उससे भी ये दर्द हो सकता हैं। जिन लोगो को एड़ी का दर्द हैं तो सर्दियों में ये दर्द ज़्यादा बढ़ जाता हैं। कई बार एड़ी में दर्द एक साथ ठंडा-गर्म खाने पीने की वजह से भी हो जाता हैं और अगर आपको कोई पुरानी चोट थी। तो उसकी वजह से भी एड़ी में दर्द हो जाता हैं।

जिन लोगो का वज़न ज़्यादा होता हैं और वो हाई हील पहनते हैं। तब उनको भी एड़ी का दर्द हो जाता हैं। क्यूंकि बॉडी का सारा भार तो हमारे पैर और एड़ी पर पड़ता है। इसलिए आपको पहले अपने वज़न को कम करने के लिए एक्सरसाइज करना चाहिए और जहा तक हो सके हाई हील नहीं पहनना चाहिए।

शुरू में हम इस दर्द को इग्नोर कर देते हैं। ध्यान नहीं देते हैं। लेकिन धीरे-धीरे ये दर्द बहुत खतरनाक हो जाता हैं और ये लम्बे टाइम के लिए हो जाता हैं। जिसकी वजह से हम चलते हैं। तो काफी तकलीफ होती हैं। जब ये दर्द पुराना हो जाता है। तो एड़ी को छूने पर ऐसा महसूस होता हैं। जैसे पका हुआ फोड़ा हो। जिसकी हम दवाई लेते हैं और फिर भी कुछ रिलीफ नही होता हैं।

तो अब आपको डॉक्टर के पास जाने की भी जरूरत नहीं हैं। क्यूंकि इस घरेलु नुस्खे से ही आपका एड़ी का दर्द दूर हो जाएंगा। इस नुस्खे का नाम सुनकर आप हैरान हो जाएंगे और ये सभी की किचन में मौजूद होता हैं। इसका नाम हैं हरी इलायची। जी हां आपको हरी इलायची का सेवन खानों को स्वादिष्ट बनाने में करते है। हरी इलायची से कोई रेमेडी आपको नहीं बनानी हैं। जिस तरह से हरी इलायची होती हैं, सिम्पली इसको इसी तरह से चबा-चबाकर खाना हैं।

हरी इलायची में एक ऐसा एसेंशियल ऑइल होता हैं। जो जादू की तरह काम करता हैं। इलायची का ये ऑइल बॉडी में जाता हैं और नसों को खोलता हैं और दर्द को खत्म करता हैं। आपको हरी इलायची को लगातार दो हफ्तों तक खाना हैं और इसको इस तरह से खाना हैं। पहले दिन आपको 10 हरी इलायची, दूसरे दिन 9 हरी इलायची, तीसरे दिन 8 हरी इलायची, चौथे दिन 7 हरी इलायची, पांचवे दिन 6 हरी इलायची, छटे दिन 5 हरी इलायची,सातवे दिन 4 हरी इलायची, आंठवे दिन 3 हरी इलायची, नवे दिन 2 हरी इलायची और दसवे दिन 1 हरी इलायची को खाना हैं।

आपको ऐसा लगातार दो हफ्ते तक करना हैं। जब आपको इसी तरह से 10 दिन ही जाएंगे, तब आपको फिर से यही प्रोसेस रिपीट करना हैं मतलब फिर से 10, 9, 8, 7 इस तरह से करके दो हफ्तों तक खा लेना हैं। हरी इलायची को आपको सुबह खाली पेट खाना हैं और पहले दिन में जब 10 हरी इलायची खाएंगे, तो इसको एक-एक करके टहलते हुए चबा-चबाकर खाएं हैं। पीली वाली हरी इलायची ना खाएं।

जब 10 दिन पूरे हो जाएंगे तब इसी तरह से रोज़ आपको इसी प्रोसेस से उतनी ही नंबर में हरी इलायची को खाना हैं और इलायची को खाने के बाद आपको थोड़ी देर तक कुछ नहीं खाना हैं। जब आपको ऐसा करते हुए दो हफ्ते हो जाएँ, तो इसको खाना बंद कर दे। क्यूंकि किसी भी चीज़ का ज़्यादा सेवन करना हानिकारक होता हैं।

साथ में आपको रात में एड़ी पर ऑइल भी लगाना हैं। आपके पास सरसों, नारियल तिल या फिर कोई दर्द वाला ऑइल हैं। उसको कटोरी में करे और फिर गर्म पानी में थोड़ी देर के लिए रख ले। जिससे ऑइल गर्म हो जाएँ, फिर इस ऑइल को एड़ी पर लगाकर मालिश कर ले। ऑइल को आप रात में लगाएं। ऐसा करने से आपका एड़ी का दर्द खत्म हो जाएंगा। जिसको पुराना एड़ी का दर्द हैं। उनके दर्द को जाने में थोड़ा टाइम लग सकता हैं। आपके एड़ी के दर्द को दूर करने में ये बहुत ही फायदेमंद चीज़ हैं। जिसको खाने से आपका दर्द इस तरह से छूमंतर हो जाएंगा। जैसे कभी आपको एड़ी का दर्द था ही नहीं।

Image Source: MEENU GUPTA KITCHEN

Recipe Source: MEENU GUTPA KITCHEN

5/5 - (3 votes)

Leave a Comment

join us on telegram zayka recipes