पेट की गैस और एसिडिटी का तुरंत इलाज Gas Ka Ilaj

क्या आप भी गैस और एसिडिटी की प्रॉब्लम से छुटकारा पाना चाहते हैं। हम सभी इस परेशानी को खत्म करने के लिए एसिडिटी की दवाई या चूर्ण और मेथी दाने का गुनगुना पानी तक पीते हैं। लेकिन आज मैं आपको एक ऐसा घरेलु रामबाण नुस्खा बताउंगी। जिसको लेने से आपकी गैस और एसिडिटी तुरंत गायब हो जाएँगी। मैं आपके साथ ज़ीरे का पानी बनाना और इसको पीने का तरीके के बारे में बताउंगी जिसको पीते ही गैस, एसिडिटी छूमंतर हो जाएँगी।

गैस की प्रॉब्लम बाहर से देखने में एकदम मामूली सी लगती हैं। लेकिन ये जितनी मामूली लगती हैं उतनी हैं नही। अगर आपने अभी इस प्रॉब्लम को नहीं सुलझाया या इसको अभी से ही गंभीरता से नहीं लिया हैं। तो ये आगे जाकर आपके लिए बहुत ही घातक साबित हो सकती हैं।  अगर आपकी गैस की प्रॉब्लम लगातार इसी तरह से चलती रही, तो ये फ्यूचर में अल्सर, कैंसर या आइ बी स (IBS) जैसी बड़ी बिमारी में कन्वर्ट हो जाएँगी। इसलिए फ्यूचर में आपको इन सब बीमारियों का सामना नहीं करना पड़े। तब आपको अपनी इस गैस और एसिडिटी की प्रॉब्लम को अभी से ही ठीक करना होगा।

सबसे पहले आप ये जाने की पेट में गैस क्यों बनती हैं? हम ऐसा क्या खाते या पीते हैं जिसकी वजह से हमारे पेट में गैस बनती हैं? कुछ ऐसी गलतियां हैं जो हम रोज़ आपकी लाइफ में करते हैं। क्या आपको पता हैं जब हम खाना खाने से पहले या खाना खाने के तुरंत बाद पानी पीते हैं तो हमे गैस की प्रॉब्लम हो जाती हैं? अब आप सोचेगे कि पानी और से गैस बनने का क्या मतलब हैं।

तो मैं आपको बता दूँ, कि हमारे पेट में एक जठर अग्नि होती हैं। जो हमारे खाने को पचाने का काम करती हैं। हमने खाना खाया और उसके तुरंत बाद ही पानी पी लिया तो ये जठर अग्नि बुझ जाती हैं। इतना तो सभी को ही पता होता हैं, कि हम अगर आग पर पानी डाल दे। तो वो भी बुझ जाती हैं। इसी तरह से पानी पीने से जठर अग्नि भी बुझ जाती है। जिसकी वजह से अब हमारा खाना पचेगा नहीं। बल्कि सड़ने लगेगा और जब खाना सड़ेगा तो हमे गैस बनने लगती हैं।

जिसकी वजह से हमारा पेट टाइट हो जाता हैं और साइज़ में भी बड़ा दिखने लगता हैं और ये कभी-कभी काफी पैनफुल भी हो जाता हैं। इसलिए आपको ध्यान देना हैं, कि आपको खाने से पहले या तुरंत बाद पानी को नहीं पीना हैं। पानी आप खाने से एक घंटा पहले पिए और खाना खाने के बाद एक से डेढ़ घंटे के बाद पानी को पिए। आप कम नमक, मिर्च वाला खाना खाएं। जिससे आपको खाने के बीच में पानी पीने की जरूरत ना हो।

गैस बनने का एक कारण ये भी हैं, कि खाना खाने के बाद फल खा लेना। ये तरीका एकदम गलत हैं। क्यूंकि अनाज (चावल, रोटी या दाल) के बाद हमे फल नहीं खाना चाहिए। क्यूंकि अनाज धीरे-धीरे हमारे डाइजेस्टिव सिस्टम से गुज़रता हैं। लेकिन फल अनाज की तरह धीरे-धीरे नहीं बल्कि बहुत तेज़ी से गुज़रता हैं। अगर हमने अनाज के बाद फल खा लिया हैं, तो आपको पता हैं क्या होगा? अनाज के डाइजेस्टिव सिस्टम में धीरे-धीरे गुज़ने की वजह से अनाज रास्ते में ही रहेगा। ये इंटेसटाइन में पहुँच ही नहीं पाएंगा।

इतने आप फल खा लेगे, जो अनाज के धीरे चलने की वजह से ये फल अनाज के पीछे की रुक जाएंगा और फिर फल फेर्मेंट होकर सड़ जाएंग। जो एसिडिटी और गैस पैदा करेगा। इसलिए आप इन दोनों को एक साथ ना खाएं।

पेट में गैस बनने का एक बेसिक कारण ये भी हैं, कि हमारी आँत में एंजाइम की कमी होना। एंजाइम भोजन को पचाने के लिए बहुत जरूरी होते हैं। हम जो भी खाना खाते हैं। ये एंजाइम हमारे द्वारा खाए गए भोजन को टुकड़ो में तोड़कर सिंपल शुगर में कन्वर्ट कर देता हैं। फिर सिंपल शुगर को हमारी आँत अब्ज़ोर्ब करके शरीर के सभी अंगो में पंहुचाती हैं।

एंजाइम की कमी उम्र बढ़ने की वजह से होती हैं। जैसे-जैसे उम्र बढ़ने लगती हैं। एंजाइम कम होने लगते हैं और एंजाइम कम होने की वजह से हमारी डाइजेशन प्रक्रिया धीमी हो जाती हैं। जिसकी वजह से खाना ठीक से नहीं पचता हैं। बल्कि बहुत धीरे-धीरे पचेगा। जिससे खाना पूरी तरह से पच नहीं पाएंगा और जो खाना नहीं पचेगा। वो आँत में नीचे की तरफ जहा पर बैक्टीरिया होते हैं। वहा पहुँच जाएंगा। फिर ये बैक्टीरिया इस मटेरियल को ब्रेक डाउन करके कार्बोहाइड्रेट्स में कन्वर्ट कर देगे और इन कार्बोहाइड्रेट्स की वजह से गैस बनने लगती हैं।

गैस बनने का एक मुख्य कारण ये भी हैं, कि आप जो खाना खा रहे हैं। उसमे हाई फोडमेप्स तो नहीं हैं। क्यूंकि इन फोडमेप्स में कुछ ऐसे कार्बोहाइड्रेट्स होते हैं। जिनको हमारी एंजाइम डाइजेस्ट नहीं कर पाती हैं। क्यूंकि इन हाई कार्बोहाइड्रेट्स को डाइजेस्ट करने के लिए हमारे पास प्रॉपर एंजाइम नहीं होते हैं। जिसकी वजह से हमारा भोजन सही से डाइजेस्ट नहीं होगा और फिर ये भोजन गट बैक्टीरिया के कार्बोहाइड्रेट्स द्वारा फेर्मेंट होकर गैस बनाएंगा।

इसलिए हमे हाई फोडमेप्स खाना नहीं लेना चाहिए। जैसे की ब्रोकली, बीन्स, लहसुन, प्याज़, दाल और गेहूं इन सब में हाई कार्बोहाइड्रेट्स होता हैं। अगर आपको इन सब को खाने से गैस की प्रॉब्लम हो रही हैं। तब आप अपने खाने पर ध्यान दे। आपने अभी तक ये जाना की पेट में गैस किस वजह से बनती हैं और अब ज़ीरे का पानी बनाना सीखेगे। जिसको पीने से आपके पेट की गैस एक मिनट में छूमंतर हो जाएँगी।

ज़ीरे का पानी बनाने का तरीका

एक गिलास पानी को पैन में डालकर मीडियम फ्लेम पर गर्म होने के लिए रखे। जब पानी गर्म हो जाएंगा, तब इसमें एक टीस्पून ज़ीरा डालकर अब पानी को मीडियम फ्लेम पर 2 से 3 मिनट अच्छी तरह से पकने दे। उसके बाद गैस को बंद कर ले और पैन को ढक दे। जिससे पानी हल्का गुनगुना हो जाएँ, आपको पानी को पूरा ठंडा करके नहीं पीना हैं।

जब पानी हल्का गुनगुना हो जाएंगा। तब आपको इस पानी को पीना हैं। पानी के गुनगुना होने के बाद छन्नी से पानी को छानते हुए गिलास में करे। जिससे ज़ीरा छन्नी में रह जाएँ, क्यूंकि ज़ीरे के साथ पानी को नहीं पीना हैं। छानकर ही पानी को पीना हैं। फिर इस गुनगुने ज़ीरे के पानी में स्वाद अनुसार काला नमक (काला नमक नहीं हैं तब सेंधा नमक ले सकते हैं) और आधा निम्बू निचोड़कर चम्मच से मिक्स करके पानी को सिप-सिप करके पिएं। अगर आपको निम्बू से एलर्ज़ी हैं तब निम्बू को स्किप कर ले।

ज़ीरे के पानी को जब आपको गैस बन रही हैं। तब बनाकर तुरंत पी ले। आप इस पानी को रात को सोने से पहले और सुबह नाश्ता करने के बाद पिए। आपको पानी को खाली पेट नहीं पीना हैं। ज़ीरा वाला पानी पीकर आपके पेट की गैस एक मिनट में ही खत्म हो जाएँगी। ध्यान रखना हैं पानी को आपको ठंडा नहीं पीना हैं पानी को गुनगुना ही पीना हैं।

Image Source: MEENU GUPTA KITCHEN

Recipe Source: MEENU GUPTA KITCHEN

5/5 - (1 vote)

Leave a Comment

join us on telegram zayka recipes