99% लोग बचपन से अमरुद खाते है, लेकिन उन्हें अभी तक नहीं पता अमरुद खाने का सही तरीका

ये बात तो सभी जानते है अमरूद को फल के रूप में खाया जाता है। अमरूद की सब्जी और चटनी भी बनाई जाती है। इसके अलावा अमरूद को अगर खाना खाने के बाद नियमित रूप से खाया जाए तो कब्ज़ की शिकायत दूर हो जाती है। अमरूद पूरी दुनिया में भारत में ही सबसे अधिक पैदा होता है।

और इसके अलावा अमरूद शरीर में होने वाले कई रोगों को समाप्त करने की क्षमता भी रखता है। लेकिन इसे हमेशा पूरा ही खाना चाहिए। आज मैं आपको बताउंगी कि अमरूद कौन-कौन से रोगों में लाभदायक होता है और इसे आधा क्यों नहीं खाना चाहिए।

मुंह के छालों को समाप्त कर देता है

अगर आप मुंह के छालों से परेशान रहते हैं तो फिर आप अमरूद के पत्तों से इलाज कर सकते हैं। इसके लिए सिर्फ आपको अमरूद के ताजा पत्तों को एक दो दिन मुंह में रखकर चबाना होगा। इससे मुंह के छाले समाप्त हो जाते हैं।

 मलेरिया में लाभदायक

अगर आप को मलेरिया हो गया है और बुखार तेज है तो फिर आप इसका उपाय अमरूद से कर सकते हैं। इसके लिए आपको एक पका हुआ अमरूद बुखार होने पर खाना है। फिर देखे इसका कमाल इससे मलेरिया का बुखार जड से ही खत्म हो जाता है।

पेट का आफरा दूर करता है

अगर आप के पेट में भारी पन रहता है तो फिर आप एक पके हुए अमरूद में सौंठ काली मिर्च और सेंधानमक डालकर खाएं। इससे पाचन क्रिया मजबूत होती है। हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि अमरूद को कभी भी खालीपेट नहीं खाएं और ना ही भोजन से पहले खाएं। इसे हमेशा भोजन करने के बाद ही खाना चाहिए।

अमरूद को पूरा खाना क्यों जरूरी है

आपने अक्सर बड़े बुजुर्गो के मुंह से सुना होगा कि एक आदमी को एक अमरूद पूरा ही खाना चाहिए। अगर अमरूद को काटकर एक दो भाग खाए जाते हैं तो पेट में दर्द होने की संभावना हो जाती हैं।

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि एक अमरूद में बहुत सारे बीज होते हैं लेकिन इसमें एक ऐसा बीज होता है जो इस पूरे अमरूद को पेट में जाने के बाद पचा देता है। अब अगर आपने एक अमरूद को चार भागों में काट लिया और चार लोगों ने अलग अलग खा लिया तो वो बीज किसके पेट में जाएगा यह पता लगाना बहुत मुश्किल हो जाएगा। इसलिए हमेशा सभी को पूरा अमरूद ही खाना चाहिए।

Rate this post

1 thought on “99% लोग बचपन से अमरुद खाते है, लेकिन उन्हें अभी तक नहीं पता अमरुद खाने का सही तरीका”

  1. बाबा रामदेव जी कहते हैं कि अमरूद का बीज नहीं खाना चाहिए क्योंकि वह पचता नहीं है इसलिए पूरा-पूरा बीज निकाल कर फेंक देने के बाद अमरूद खाना चाहिए।
    इस बारे में आपका क्या कहना है?

    प्रतिक्रिया

Leave a Comment

join us on telegram zayka recipes