बेल का शरबत पीने के इतने जबरदस्त फायदे इससे पहले आपने कही नहीं देखे होंगे

बेल दुनियां का एक ऐसा पेड़ है जिसके हर हिस्से का इस्तेमाल सेहत बनाने व सौंदर्य निखारने के लिए किया जाता है आयुर्वेद में इसके कई सारे फायदों का उल्लेख मिलता है इसका फल काफी कठोर होता है लेकिन अंदर का हिस्सा एकदम मुलायम, गूदेदार और बीजों से युक्त होता है।

बेल के फल का जीवनकाल काफी लंबा होता है पेड़ से टूटने के काफी दिनों बाद भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है बेल का इस्तेमाल कई तरह की दवाइयां बनाने में तो किया ही जाता है और साथ ही साथ ये कई स्वादिष्ट व्यंजनों में भी प्रमुखता से इस्तेमाल होता है बेल में प्रोटीन, बीटा-कैरोटीन, थायमीन, राइबोफ्लेविन और अन्य विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाई जाती है।

बेल के जूस पीने के फायदे

दिल से जुड़ी हुई बीमारियों से बचाव में सहायक

बेल का रस तैयार कर लें और उसमें 4 से 5 बूंदें घी की मिला दें और इस पेएं को हर रोज़ एक निश्चित मात्रा में लें इसके नियमित सेवन से दिल से हुई जुड़ी बीमारियों से बचाव होता है और ये ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में भी काफी मददगार होता है।

कोलेस्ट्रॉल स्तर को कण्ट्रोल रखने में मददगार साबित

बेल का जूस कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखने में भी मददगार होता है।

दस्त और डायरिया में भी फायदेमंद

आयुर्वेद के अनुसार बेल के रस को दस्त और डायरिया में बहुत ज्यादा फायदेमंद माना गया है और अगर आप चाहें तो इसे गुड़ या फिर चीनी के साथ मिलाकर भी पी सकते हैं।

गैस, कब्ज़ की समस्या में राहत

नियमित रूप से बेल का रस पीने से गैस, कब्ज़ और अपच की समस्या में काफी आराम मिलता है।

नई मांओं के लिए भी है फायदेमंद

अगर आप एक नई-नई मां हैं तो फिर आपके लिए बेल का रस पीना बहुत ज्यादा फायदेमंद रहेगा ये मां के स्वास्थ को बेहतर करने में तो मददगार है ही और साथ ही साथ ब्रेस्ट मिल्क प्रोडक्शन को भी बढ़ाता है।

ठंडक देने का काम करता है

बेल के शर्बत को शहद के साथ अच्छे से मिलाकर पीने से एसिडिटी में राहत मिलती है अगर आपको मुंह के छाले हो गए हैं तो फिर भी इसका सेवन आपके लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद रहेगा गर्मी के लिहाज़ से ये एक बेहतरीन पेय है एक और जहां ये लू से सुरक्षित रखने में मददगार होता है वहीं पर शरीर को अंदर से ठंडक देने का भी काम करता है।

खून साफ करने में मददगार

बेल के रस में कुछ मात्रा में गुनगुना पानी की मिला लें अब इसमें थोड़ी सी मात्रा में शहद डालें और इस पेय के नियमित सेवन से खून बिलकुल साफ हो जाता है।

कैंसर से बचाव के लिए

नियमित रूप से बेल का जूस पीने से ब्रेस्ट कैंसर होने की आशंका भी काफी कम हो जाती है।

आवश्यक सामग्री – necessary ingredients – bel ka juice recipe

  • बेल = एक अदद, मीडियम साइज़ का
  • चीनी = एक कप
  • आइस क्‍यूब = जरूरत अनुसार
  • ठंडा पानी = 3 से 4 कप
  • काला नमक  = एक छोटा चम्मच
  • भुना ज़ीरा = एक छोटा चम्मच

विधि – how to make bel ka juice

सबसे पहले बेल को धोएं और फिर काटे और गूदा निकाल लें अब एक भगोने में गूदे से दो गुना पानी डालकर खूब अच्छी तरह से मसल लें और इतना ज्यादा मसलिये कि सारा गूदा और पानी एक लगने लगे।

अब इस मसले हुए गूदे को मोटे छेद वाली चलनी में छान लें और चम्मच से दबा-दबा कर सारा रस निकाल लें।

निकाले हुएं रस में चीनी मिला लें और जब चीनी अच्छी तरह से घुल जाएं तो इसमें ठंडा पानी या बर्फ के क्यूब मिलाएं नमक और भुना हुआ जीरा भी डाल लें एक किलो बेल के फल से लगभग चार से पांच गिलास शरबत बन जाता है।

अब आपका ठंडा-ठंडा मीठा बेल का शरबत बनकर तैयार है।

इस रेसिपी से जुडा हुआ कोई भी सवाल आप के मन में हो तो नीचे दिए गए कमेन्ट बॉक्स में लिखें या अपनी राय दें।

शेयर करें:

Leave a Comment