जोड़ो का दर्द, कमर दर्द, खून की कमी, कमज़ोरी होगी दूर फायदे मिलेगे अनेक

शरीर में किसी भी प्रकार का दर्द हो जैसे जोड़ो का दर्द, कमर दर्द, गर्दन का दर्द और घुटनों का दर्द सब तरह के दर्द हो या हड्डियों से कट-कट की आवाज़ आती हैं इन सब से निजात पाने का एक कारगार नुस्खा आज आप इस पोस्ट में मैं आपको बताने वाली हूँ। आपको चाहे कितना भी पुराने से पुराना हड्डियों का दर्द क्यूँ ना हो सब इस घरेलु नुस्खे से खत्म हो जाएंगा।

जिन लोगो को बहुत ज़्यादा थकान रहती हैं। वो भी इस नुस्खे को अपनाएँ। थकान एक ऐसी बिमारी हैं। जो बच्चो से लेकर बड़ो सभी को होती हैं। अगर हम ज़्यादा काम कर लेते हैं। या फिर कभी-कभी तो ऐसा होता हैं, कि हम थोड़े से ही काम में बहुत ज़्यादा थक जाते हैं और फिर हमारा किसी भी काम में मन नहीं लगता हैं।

आलस आता ही रहता हैं। हमारे शरीर में कैल्शियम की कमी की वजह से हमे ये सारी प्रॉब्लम होती हैं। क्यूंकि हमारी बॉडी में कैल्शियम का लेवल गिरने लगता हैं। या फिर ये कहे कि कैल्शियम की कमी की वजह से हमे शरीर में किसी भी प्रकार का दर्द और थकान जैसी समस्या होती हैं।

लेकिन आज मैं आपको बादाम, खसखस और तिल इन तीनो से एक इतना किफायती पाउडर को बनाना बताउंगी। जिसको आप दूध में चार से पांच दिन लगातार पिलोगे। तो आप खुद ही महसूस करेगे, कि आपकी बॉडी में थकान और शरीर में आपको जो भी दर्द था तो सब खत्म हो जाएंगा।

इस हेल्दी दूध को लेकर बहुत अच्छा फील करेगे आपको लगेगा ही नहीं कि आपको दर्द या थकान जैसी कोई परेशानी भी थी। इस दूध को पीने से आपके अन्दर कैल्शियम का जो लेवल कम हो रहा हैं। वो बढ़ने लगेगा और आप चुस्त दुरुस्त रहेगे। जिससे आप एकदम लाइट फील करेगे और आपको बॉडी को एनर्जी भी मिलेगी। सबसे अच्छी बात ये हैं कि आप इस दूध को बड़ो के साथ-साथ बच्चो को भी दे सकते हैं।

बड़े बुजुर्गो के लिए ये बहुत ही फायदेमंद दूध हैं। क्यूंकि सबसे ज़्यादा बुजुर्गो को ही जोड़ो के दर्द की परेशानी रहती हैं। वो भी इस दूध को पीकर कुछ दिनों में ही जोड़ो के दर्द या घुटनों के दर्द से निजात पा सकेगे। इतना ही नहीं जिन लोगो को नींद की समस्या हैं। नींद नहीं आती हैं, वो भी रात को इस दूध को बनाकर पिएं। क्यूंकि इसको पीने से नींद बहुत ही अच्छी आती हैं। साथ ही ये खून की कमी को भी दूर करेगा।

बुढ़ापा भी आपको जल्दी नहीं आएंगा। अगर आप जवां और सुन्दर दिखना चाहते हैं। तो भी इस हेल्दी दूध को पिएं। क्यूंकि इसको पीने से बुढ़ापा आपको जल्दी से नहीं आएंगा। आपने अभी तक ये जाना हैं कि किन-किन समस्या में दूध फायदेमंद हैं। आप दूध में जो पाउडर डालकर पिएंगे। वो पाउडर जिन-जिन चीज़ों से बना हैं। उनके गुणों के बारे में भी तो जाने, जिससे आपको पता लेगे कि इन बिमारियों के साथ-साथ आपको इस दूध को पीने से कितने और बड़े-बड़े फायदे हो सकते हैं।

बादाम –

dry Almond

बादाम में प्रोटीन, फाइबर, विटामिन इ, फॉस्फोरस, कॉपर, मैग्नीशियम और मेंग्नीज़ पाया जाता हैं। इतना ही नहीं बादाम में एंटी-ओक्सिडेंट भी पाएं जाते हैं। क्या आपको पता हैं? बादाम को ड्राई फ्रूट्स का राजा कहा जाता हैं और इसके न्यूट्रीशन की वजह से इसका अधिक सेवन किया जाता हैं। बादाम में कम मात्रा में कार्बोहाइड्रेट्स पाया जाता हैं और इसमें अधिक मात्रा में प्रोटीन पाया जाता हैं। जो आपकी एनर्जी को बढ़ाता हैं और माइंड सेल्स को रिपेयर करता हैं और माइंड को स्ट्रोंग और शार्प करता हैं। बादाम दिल के लिए बहुत ही फायदेमंद हैं।

सफ़ेद तिल –

seasme seeds

तिल को पौषक तत्वों का भंडार माना जाता हैं। इसमें कैल्शियम पाया जाता हैं। जो माइग्रेन और ऑस्टियोपोरोसिस जैसी बिमारी से निजात दिलाने में मदद करता हैं और तिल में पाया जाने वाला मैग्नीशियम आपके दिल को स्वस्थ रखने में मदद करता हैं। तिल में मौजूद कॉपर आर्थराइटिस की समस्या को दूर करता हैं।

आपके शरीर में खून की कमी हैं। तो तिल खून की कमी को भी पूरा करता हैं और खून बढ़ाता हैं। तिल में प्रोटीन शरीर को भरपूर एनर्जी और ताकत देता हैं। तिल से आपका मेटाबोलिज्म भी अच्छी तरह से काम करता हैं।

खसखस –

khaskhas

खसखस में फाइबर, प्रोटीन, जिंक और ओमेगा – 6 फैटी एसिड जैसे पौषक तत्व मौजूद होते हैं। खसखस को पोपी सीड कहते हैं। खसखस कब्ज़ और पेट से सम्बन्धित सारी बीमारियों के लिए बहुत ही फायदेमंद हैं और ये पाचन तंत्र को ठीक करता हैं। साथ ही पित्त रस की समस्या और अनिंद्रा को भी दूर करता हैं। खसखस में कैल्शियम, कॉपर जैसे पौषक तत्व हड्डियों को मज़बूत करते हैं।

खसखस भी दिल को हेल्दी बनाने में हेल्पफुल हैं। खसखस आपके कोलेस्ट्रोल को भी नियंत्रित करता हैं। इतना ही नहीं मुहं में छाले हो जाते हैं। जो बहुत ही कष्ट देते हैं। जिसकी वजह से हमको खाने में परेशानी आती हैं। तो खसखस छालो को परेशानी को भी खत्म करता हैं। क्यूंकि इसकी तासीर ठंडी होती हैं और छाले पेट की गर्मी की वजह से होते हैं।

आवश्यक सामग्री – ingredients for All Pain Relief Remedy

  • दूध = 500 ml
  • बादाम = 7 से 8
  • सफ़ेद तिल या काले तिल = 2 टेबलस्पून
  • खसखस = 2 टेबलस्पून
  • गुड़ = स्वाद अनुसार

विधि – How to make all pain relief remedy

यूज़फुल रेमेडी बनाने के लिए सबसे पहले आप पाउडर बना ले और जिसके लिए एक मिक्सी का जार ले और इस जार में बादाम, खसखस और तिल डाले। (आपके पास सफ़ेद या काले जो भी तिल हैं, आप वो वाले तिल ले सकते हैं।) फिर इनको ग्राइंड करते हुए एकदम फाइन पाउडर बना ले।

अब इस पाउडर को एक प्लेट में निकाल ले और उसके बाद इसको दूध में डालने के लिए दूध को पैन में डालकर गर्म होने के लिए रख ले। आपको इस बात का ख्याल रखना हैं, कि आप जो दूध ले रहे हैं उसमे मलाई नहीं होनी चाहिए। अगर आपके दूध पर मलाई हैं, तो आप उसको पहले हटा ले और उसके बाद दूध को गर्म होने के लिए रख ले।

दूध आप गाय का भी ले सकते हैं। क्यूंकि इसमें फैट बहुत कम होता हैं। अगर गाय का दूध नहीं तब आप नॉर्मल दूध ले। मगर इसके ऊपर से पहले मलाई हो हटा ले। दूध जब गर्म हो जाएंगा। तब इसमें गुड़ को डाले गुड़ को आप अपने हिसाब से कम या ज़्यादा जैसा मीठा पसंद करते हैं, उतना ही डाले और गुड़ को टुकड़ो में काटकर डाले। (गुड़ की जगह पर आप धागे वाली मिश्री भी ले सकते हैं। मगर चीनी का इस्तेमाल बिलकुल भी ना करे।)

फिर दूध में दो टेबलस्पून पाउडर जो बादाम, खसखस और तिल से बनाया हैं। उसको दूध में डाले और अब दूध को अच्छी तरह से बॉईल आने तक पकने दे जिससे गुड़ भी मेल्ट हो जाएँ। उसके बाद गैस को बंद कर ले और गर्म-गर्म दूध को कप में कर ले। आप इस तरह से दूध को बनाकर चार से पांच दिन तक पिएं। आपको खुद ही आराम महसूस होगा।

आप इस दूध को रात के वक़्त पिएं। ये तब ज़्यादा असरदार साबित होगा। अगर आप इस दूध को बच्चो को बनाकर दे रहे हैं, तब पाउडर को एक टेबलस्पून दूध में डालकर दे। बच्चो के लिए पाउडर की क्वांटिटी कम कर ले। अगर आपको दूध पसंद नहीं हैं। तब आप एक टेबलस्पून पाउडर को खाएं और फिर उसके बाद एक गिलास हल्का गर्म पानी पी ले। लेकिन ये दूध में ज़्यादा फायदा देगी। क्यूंकि दूध में भी बहुत सारे पौषक तत्व होते हैं। इसलिए दूध को सम्पूर्ण आहार कहा जाता हैं।

Image Source: Shikha’s Kitchen

Recipe Source: Shikha’s Kitchen

5/5 - (1 vote)

Leave a Comment

join us on telegram zayka recipes